Bhopal : इकोलाजिकल पार्क में ठहाके लगाकर हंसने पर पाबंदी, जानिए मामला

Indrajeet kumar, Last updated: Thu, 9th Dec 2021, 4:14 PM IST
  • भोपाल के इकोलाजिकल पार्क में ठहाके लगाकर हंसने पर पाबंदी लगा दी गई है. कोरोना के खतरों को देखते हुए पार्क प्रशासन ने ये फैसला लिया है. ताकि कोरोना के प्रसार पर लगाम लगाया जा सके. ये पाबंदी सिर्फ हास्य व्यायाम क्रिया पर लागू रहेगी. पार्क के अंदर सामान्य हंसी पर किसी तरह की रोक नहीं है.
प्रतीकात्मक फोटो

भोपाल. भोपाल के इकोलाजिकल पार्क में अब लोगों के ठहाके लगाकर हंसने पर पाबंदी लगा दी गई है. इस पार्क में रोजाना हास्य व्यायाम यानि ग्रुप लाफ्टर एक्सरसाइज होता था. कोरोना मामलों के मद्देनजर प्रशासन ने ये फैसला लिया है. ये पाबंदी सिर्फ समूह हास्य व्यायाम पर ही लागू रहेगी. पार्क के अंदर सामान्य हंसी पर कोई रोक नहीं है. कोरोना के ओमीक्रॉन वैरिएंट के संभावित खतरे को देखते हुए ये फैसला लिया गया है. ताकि कोरोना के प्रसार को रोका जा सके.

प्रतिदिन होता था हास्य व्यायाम

गौरतलब है कि पार्क के अंदर लोग सामूहिक रूप से हर रोज सुबह एक गिल घेरे में इकट्ठे होकर खड़े हो जाते थे. और ये सभी लोग जोर-जोर से हंसते थे. माना जा रहा है कि इस हास्य व्यायाम से पार्क के अंदर घूमने वाले दूसरे लोगों को कोरोना फैलने का खतरा है. इसी को देखते हुए वन विभाग ने सामूहिक हास्य क्रिया पर रोक लगा दी है. जिसके बाद लोगों ने इस पाबंदी को स्वीकार कर लिया है.

कोरोना प्रसार को रोकने के लिए लगी पाबंदी 

हास्य क्रिया पर लगी पाबंदी के मामले में पार्क के डिप्टी रेंजर डीपीएस चौहान ने जानकारी देते हुए बताया कि इकोलाजिकल पार्क में पहले से ही पाबंदी लागू है. जिसका पालन करने के लिए बार बार समझाया जा रहा था. इस सामूहिक हास्य क्रिया पर दूसरे पर्यटकों ने भी आपत्ति दर्ज कराई थी. जिसके बाद वन प्रशासन को कोरोना सुरक्षा के मद्देनजर ये फैसला लेना पड़ा.

CM शिवराज ने कहा- ओमिक्रोन वेरिएंट से बचाने के लिए सतर्कता और 100 फीसदी टीकाकरण जरूरी

लगभग 100 एकड़ में बनाया गया है शहर वन

दरअसल इकोलाजिकल पार्क भोपाल के कटारा हिल्स क्षेत्र के लहारपुर में लगभग 1700 एकड़ में फैला हुआ है. इस पार्क के अंदर 100 एकड़ में शहर वन बनाया गया है. वन शहर का ये हिस्सा कटारा हिल्स क्षेत्र के अमलतास चौराहे से सटा हुआ है. यह वन शहर सुबह 5 बजे से लेकर शाम के 4 बजे तक आम पब्लिक के लिए खुला रहता है.

अन्य खबरें