MP: महाकौशल अंचल में 475 करोड़ रूपये की लागत से बनेगा 112KM हाइवे, केंद्र ने दी मंजूरी

Smart News Team, Last updated: Tue, 4th Jan 2022, 4:58 PM IST
  • मध्य प्रदेश के महाकौशल जोन में राष्ट्रिय राजमार्ग बनाने के लिए केंद्र सरकार की तरफ से मंजूरी मिल गई है. इसकी जानकारी मध्य प्रदेश के लोक निर्माण मंत्री गोपाल भार्गव ने दिया. इस 112 किलोमीटर राष्ट्रिय राजमार्ग का निर्माण 475 करोड़ रूपये की लागत से होगा.
मध्य प्रदेश के लोक निर्माण मंत्री गोपाल भार्गव 

भोपाल (वार्ता). मध्य प्रदेश के लोक निर्माण मंत्री गोपाल भार्गव ने मंगलवार को बताया कि केन्द्र सरकार ने 475 करोड़ रूपये की लागत वाले 112 किलोमीटर लम्बे राष्ट्रीय राजमार्ग के निर्माण के लिए स्वीकृति दे दी है. इस राजमार्ग को एमपी के महाकौशल अंचल में बनाया जाएगा. वहीं इस राजमार्ग के निर्माण से अंचल के आर्थिक और सामाजिक विकास के नये आयाम स्थापित होंगे.

भार्गव ने बताया कि इसके तहत राष्ट्रीय राजमार्ग 45 पर डिडौंरी से अमरकंटक तक 329 करोड़ रूपये की लागत से 77 किलोमीटर तथा कुडंम से शाहपुरा तक 146 करोड़ रूपये की लागत से साढ़े 32 किलोमीटर मार्ग को टू-लेन करने के लिए स्वीकृति प्रदान की गयी है. भार्गव ने इन महत्वांकाक्षी सड़क मार्गों की स्वीकृति के लिए केन्द्र सरकार के प्रति आभार ज्ञापित किया है.

कमलनाथ का शिवराज सरकार पर निशाना- सेकेंड वेब में सरकारी कुप्रबंधन सबने देखा

लोक निर्माण मंत्री ने कहा कि इन दोनों राष्ट्रीय राजमार्गों के निर्माण और उन्नयन के लिए शत-प्रतिशत राशि भारत सरकार द्वारा प्रदान की जाएगी. मार्गों का निर्माण मध्यप्रदेश लोक निर्माण विभाग की राजमार्ग इकाई द्वारा किया जाएगा. उन्होंने कहा कि इन मार्गो के निर्माण से महाकौशल अंचल नोर्थ-साऊथ कोरिडोर (ग्वालियर-झाँसी-सागर-नागपुर) तथा वाराणसी-रीवा-नागपुर एनएच 44 से सीधा जुड़ सकेगा. इसका लाभ अंचल के आदिवासी बहुल जिलों को प्राथमिकता से मिलगा.

गोपाल भार्गव कहा कि मध्यप्रदेश सरकार की महत्वपूर्ण परियोजना नर्मदा एक्सप्रेस-वे के प्रस्तावित प्रोजेक्ट को भी बल मिलेगा. अंचल के वर्ल्ड हेरीटेज भेड़ाघाट नर्मदा के उद्गम स्थल अमरकंटक इस मार्ग से जुड़ेंगे. परिणामस्वरूप अंचल में पर्यटन और व्यापार को प्रोत्साहन मिलेगा. साथ ही मध्यप्रदेश- छत्तीसगढ़ के बीच जबलपुर-रायपुर और विशाखापट्नम तक व्यापारिक कोरिडोर भी विकसित हो सकेगा.

अन्य खबरें