MP Board: 10th-12th के प्रश्न पत्र में कई गलतियां, इन 6 विषयों में मिलेगा बोनस अंक

Somya Sri, Last updated: Mon, 7th Mar 2022, 1:57 PM IST
  • मध्य प्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल ने पाया है कि 10वीं और 12वीं के कई विषयों के प्रश्न पत्र में गलतियां है. इसलिए जिन प्रश्नों में गलतियां पाई गई हैं उसमें छात्रों को बोनस अंक मिलेगा. कक्षा 10वीं मैथमेटिक्स क्वेश्चन पेपर और 12वीं की केमिस्ट्री क्वेश्चन पेपर में अधिक गलतियां पाई गई हैं. इसके साथ 4 अन्य विषयों में भी गलतियां हैं. सभी विषय में छात्रों को बोनस अंक मिलेगा.
MP Board: छात्रों को छह विषयों में मिलेंगे बोनस अंक (प्रतीकात्मक फोटो)

भोपाल: मध्य प्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल की तरफ से 10वीं-12वीं की कॉपियों का मूल्यांकन शुरू हो हो चुका है. मूल्यांकन में पता चला है कि 10वीं और 12वीं के कई विषयों के प्रश्न पत्र में गलतियां है. इसलिए मध्य प्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल ने तय किया है कि जिन प्रश्नों में गलतियां पाई गई हैं उसमें छात्रों को बोनस अंक मिलेगा. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक कक्षा 10वीं की मैथमेटिक्स क्वेश्चन पेपर में 6 क्वेश्चन गलत है. तो जिन भी विद्यार्थियों ने इन क्वेश्चन को अटेम्प्ट किया होगा उन्हें बोनस अंक मिलेगा. जबकि कक्षा 12वीं की केमिस्ट्री क्वेश्चन पेपर में गलतियां पाई गई हैं. इसलिए इस विषय में भी छात्रों को बोनस अंक मिलेगा. इसके अलावा चार और विषय हैं जिनमें गलतियां मिली है. उन सभी विषयों में भी छात्रों को बोनस अंक दिया जाएगा.

दो बार चेक होगी कॉपियां

जानकारी के मुताबिक इस बार बोर्ड द्वारा सबसे ज्यादा नंबर और सबसे कम नंबर पाने वाले स्टूडेंट्स की कॉपियों की दोबारा जांच की जाएगी. हर पेज पर मिले नंबर को जोड़ने पर भी ध्यान रखा जाएगा. इसके अलावा ऐसे स्टूडेंट्स जिन्हें एक भी नंबर न मिला हो या जिनका नंबर 90 % से ज्यादा हो उनकी कॉपी दोबारा जांची जाएगी. ऐसे में इस बार छात्रों को 90 प्रतिशत से ज्यादा अंक पाने के लिए मशक्कत करना पड़ सकता है.

MP News: पिकनिक मनाने गए 6 युवक नर्मदा नदी में डूबे, चार की मौत

दो चरणों में होगी कॉपी चेक

जानकारी के मुताबिक शुरुआत में 28 फरवरी तक पहले चरण में संपन्न हुई परीक्षाओं की कॉपियां जांची जाएंगी. वहीं 28 फरवरी के बाद जो एग्जाम होंगे उनकी कॉपियों की जांच 15 मार्च से शुरू होगी. यानि दो चरणों में कॉपियों को चेक किया जाएगा. मालूम हो कि इस बार 30 हजार शिक्षक, 1 करोड़ कॉपियां जांचने का काम करेंगे. इस बार 10वीं और 12वीं कक्षा के 18 लाख विद्यार्थी परीक्षा में शामिल हुए थे. बताया जा रहा है कि दसवीं और बारहवीं परीक्षा के रिजल्ट अप्रैल में या मई महीने की शुरुआत में आ सकता है.

अन्य खबरें