MP उपचुनाव: पूर्व MLA सुलोचना रावत और बेटे विशाल ने कांग्रेस का साथ छोड़ BJP का थामा दामन

Somya Sri, Last updated: Sun, 3rd Oct 2021, 3:41 PM IST
  • कांग्रेस पार्टी पर जोबट विधानसभा क्षेत्र से पूर्व विधायक सुलोचना रावत और उनके बेटे विशाल रावत ने कांग्रेस का साथ छोड़ दिया है और भाजपा का दामन थाम लिया है. शनिवार की देर रात मुख्यमंत्री आवास में सीएम शिवराज सिंह चौहान और प्रदेश अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा की मौजूदगी में उन्होनें भाजपा की सदस्यता ग्रहण की.
MP उपचुनाव: पूर्व MLA सुलोचना रावत और बेटे विशाल ने कांग्रेस का साथ छोड़ BJP का थामा दामन

भोपाल: मध्यप्रदेश उपचुनाव से पहले कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है. कांग्रेस पार्टी पर जोबट विधानसभा क्षेत्र से पूर्व विधायक सुलोचना रावत और उनके बेटे विशाल रावत ने कांग्रेस का साथ छोड़ दिया है और भाजपा का दामन थाम लिया है. पूर्व विधायक सुलोचना रावत और उनके बेटे विशाल रावत ने शनिवार की देर रात मुख्यमंत्री आवास में सीएम शिवराज सिंह चौहान और प्रदेश अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा की मौजूदगी में भाजपा की सदस्यता ग्रहण की. बताया जा रहा है कि बीजेपी सुलोचना रावत या उनके बेटे विशाल रावत को जोबट सीट पर उम्मीदवार बना सकती हैं.

कमलनाथ के घर हुई थी बैठक

सूत्रों के मुताबिक शनिवार की देर रात पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के आवास पर एक बैठक हुई थी. बैठेक में चुनाव प्रभारियों से चारों सीटों के लिए टिकट के दावेदारों के नाम लेने को कहा गया था. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक जिसमें जोबट सीट से जिला अध्यक्ष महेश पटेल का नाम लगभग फाइनल किया गया था. ये बैठक रात 10:30 बजे खत्म हुई. उसके बाद रात करीब 12 बजे सुलोचना रावत और उनके बेटे विशाल रावत ने भाजपा का दामन थाम लिया.

अब मध्यप्रदेश में लोगों के घर-घर राशन पहुंचाएगी शिवराज सरकार

राज्यवर्धन सिंह दत्तीगांव ने मध्यस्थता की निभाई भूमिका

सूत्र बताते हैं कि पूर्व विधायक सुलोचना रावत और उनके बेटे विशाल रावत को बीजेपी में शामिल करवाने के पीछे ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थक और शिवराज सरकार के उद्योग मंत्री राज्यवर्धन सिंह दत्तीगांव ने मध्यस्थता की भूमिका निभाई है. सदस्यता ग्रहण करने के बाद सुलोचना रावत ने कहा कि सीएम और पीएम के कामों से प्रभावित होकर उन्होंने बीजेपी की सदस्यता ग्रहण की है. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अलीराजपुर के लिए काफी काम किया है.

एक लोकसभा और तीन विधानसभा पर उपचुनाव

बता दें कि मध्य प्रदेश में 1 लोकसभा सीटों और 3 विधानसभा सीट पर उपचुनाव होने हैं. इसमें 2 विधानसभा सीट पर पहले से ही कांग्रेस का कब्जा है. तो वहीं एक लोकसभा और एक विधानसभा सीट पर बीजेपी की पकड़ है. इन सीटों पर वोटिंग 30 अक्टूबर को होगी. वहीं 8 अक्टूबर तक पर्चा दाखिल करने की अंतिम तारीख है.

अन्य खबरें