MP : EOW ने किया कन्यादान योजना में धांधली का खुलासा, दोषियों पर एफआईआर दर्ज

Mithilesh Kumar Patel, Last updated: Thu, 6th Jan 2022, 10:47 PM IST
  • मध्य प्रदेश के विदिशा जिले के सिरोंज जनपद में आर्थिक अपराध अन्वेषण यानी EOW प्रकोष्ठ की जांच बड़े पैमाने पर धांधली करने का मामला सामने आया है. कन्यादान योजना के तहत एक 27 वर्षीय शख्स के 3 बेटियों की शादी के नाम राशि जमा कराने के साथ ही और भी धांधली किए जाने पर गुरुवार को FIR दर्ज कराई गई है.
कन्यादान योजना में धांधली

भोपाल. मध्य प्रदेश में सरकारी योजनाओं के रूपयों की वितरण में मनमानी करने का मामला सामने आया है. दरअसल मामला विदिशा जिले के सिरोंज जनपद में कन्यादान योजना के नाम पर बड़े पैमाने पर की गई धांधली का है. धांधली की शिकायत पर आर्थिक अपराध अन्वेषण यानी ईओडब्ल्यू प्रकोष्ठ ने मामले की जांच की. जांच में आरोप सही पाए जाने पर गुरुवार को इस मामले में ईओडब्ल्यू ने दोषियों पर एफआईआर दर्ज कराई है. 

योजना के तहत संबंधित क्षेत्र में बाटे गए रूपयों में बड़ी संख्या में अपात्र आवेदकों के आलावा इस योजना का लाभ पाने के लिए आवेदन न करने वालों के नाम से भी राशि निकाल ली गई है. मिली जानकारी के मुताबिक, योजना के लाभार्थियों के खातों में रूपए न जमा करके बाकी अपात्र व अन्य खातों में राशि जमा कर दी गई है.

कमलनाथ ने कहा : CM शिवराज, शहर का तापमान 18 डिग्री होने पर भी बताएंगे कांग्रेस को जिम्मेदार

लॉक डाउन के दौरान विदिशा के जनपद सिरोंज में बतौर मुख्य कार्यपालन अधिकारी शोभित त्रिपाठी तैनात थे. इन्हीं के कार्यकाल में कन्यादान योजना की राशियों को बाटने में गड़बड़़ी पाई गई है. बीते दिनों इस धांधली के मामले ने तूल पकड़ लिया है और भाजपा विधायक ने विधानसभा में आवाज उठाई. जिसके बाद श्रम विभाग ने FIR से दो दिन पहले ही शोभित त्रिपाठी को निलंबित कर दिया.

ईओडब्ल्यू ने किया खुलासा और बताया

ईओडब्ल्यू की जांच में सामने आया कि सिरोंज जनपद में कन्यादान योजना के तहत 27 वर्षीय युवक की 3 बेटियां बताकर लाभ देने के लिए उसके खातों में विवाह सहायता याजना की राशि डाली गई है. और जांच से ये पता चला कि भवन व अन्य संनिर्माण कर्मकार कल्याण मंडल में पंजीकृत उन श्रमिकों के नाम से योजना के लाभ की राशि निकाल ली गई जिन्होंने आवेदन ही नहीं किया था. इसके आलावा ईओडब्ल्यू ने ये भी पाया कि जिन लाभार्थियों के नाम से योजना का लाभ लेना बताया गया, उनमें से कईयों के खाते में विवाह सहायता याजना की राशि न डालकर दूसरों के खाते मेंं डाल दा गई.

पालतू कुत्ते संग खेलता था स्ट्रीट डॉग, मालिक ने लाठी से पीटा फिर पत्थर से कुचल मार डाला

कन्यादान योजना क्या है और किसे मिलता था लाभ

भवन व अन्य संनिर्माण कर्मकार कल्याण मंडल में पंजीकृत निर्माण श्रमिकों के संतानों को शादी के लिए कन्यादान योजना के तहत 51000 रुपए की मदद दी जाती है. मिली जानकारी के मुताबिक, कोरोना काल के दौरान साल 2019 से नवंबर 2021 के बीच इस योजना का लाभ पाने के लिए सिरोंज ब्लाक में कुल 5 हजार 923 लोगों ने रजिस्ट्रेशन करवाया था. कन्यादान योजना राशि के वितरण का कामकाज देख रहे कर्मीयों ने बताया कि लाभार्थियों में कुल 30 करोड़ 18 लाख 39 हजार रूपए बांट दिए गए.

अन्य खबरें