अस्पताल में प्रेगनेंट महिला ने तोड़ा दम, स्टाफ जला रहा था पटाखे, नर्स सस्पेंड, डॉक्टर्स को चेतावनी

Swati Gautam, Last updated: Sun, 7th Nov 2021, 9:09 AM IST
  • मध्य प्रदेश के एक अस्पताल में 26 साल की महिला प्रसूति वार्ड में भर्ती थी जहां उनकी मौत हो गई. इस समय का एक वीडियो वायरल हुआ जिसमें अस्पताल का स्टाफ पटाखे जलाता नजर आ रहा है. इसके बाद अस्पताल की एक नर्स को सस्पेंड कर दिया गया है और चिकित्सक को कारण बताओ नोटिस भी जारी किया गया है.
अस्पताल में प्रेगनेंट महिला ने तोड़ा दम, स्टाफ जला रहा था पटाखे, नर्स सस्पेंड, डॉक्टर्स को चेतावनी. file photo

भोपाल. मध्य प्रदेश के एक अस्पताल में कर्मचारियों को लापरवाही के कारण एक प्रेगनेंट महिला की अस्पताल में ही मौत हो गई. महिला के पति का आरोप है कि समय महिला को चिकित्सक की जरूरत थी उस समय वार्ड के बाहर अस्पताल के कुछ स्टाफ पटाखे फोड़ते नजर आए थे. इसका एक वीडियो भी वायरल हुआ जिसमें कुछ कर्मचारी पटाखे फोड़ते नजर आ रहे थे. वीडियो वायरल होने के बाद डॉक्टर और नर्स पर करवाई की गई है. अस्पताल की एक नर्स को सस्पेंड कर दिया गया है. इसके अलावा अस्पताल के एक चिकित्सक को कारण बताओ नोटिस भी जारी किया गया है.

बताया जा रहा है कि 26 साल की महिला राज्य के सागर जिले के गुरुवार की रात बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पीटल में प्रसूति वार्ड में भर्ती थीं जहां उनकी मैं हुई. उसी रात को अस्पताल के कर्मचारियों का पटाखा फोड़ते वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुई. मीडिया में संज्ञान में यह बात आते ही कॉलेज के प्रवक्ता डॉक्टर उमेश पटेल ने शनिवार को कहा कि नर्स को सस्पेंड करने और चिकित्सक को कारण बताओ नोटिस जारी होने के अलावा अस्पताल के 5 इंटर्न को चेतावनी भी दी गई है.

आर्यन खान ड्रग्स केस पर बोले राजकुमार संतोषी, जिनका बड़ा नाम, उसी का तो…

डॉक्टर ने आगे कहा कि वीडियो फुटेज देखने और कर्मचारियों से मिली जानकारी के बाद इस घटना को सही पाया गया है जिसके चलते 5 इंटर्न को भी प्रसूति विभाग में ड्यूटी से हटा दिया गया है. इन सभी को जो वार्निंग लेटर दी गई है. इस मामले में महिला के पति ने शिकायत दर्ज कराई है. उन्होंने आरोप लगाया है कि डिलीवरी को लेकर उनकी पत्नी को एक इंजेक्शन लगाया गया था जिसके बाद महिला की मौत हो गई. सिटी सुपरिटेन्डेंट ऑफ पुलिस रविंद्र मिश्रा ने बताया कि महिला ने एक बच्चे को जन्म दिया है. शिकायत मिलने के बाद उनका विसरा फॉरेंसिक जांच के लिए भेजा गया है. रिपोर्ट लिखे जाने तक अभी इस मामले में कोई केस दर्ज नहीं किया गया है.

अन्य खबरें