MP में आदिवासियों को शराब बनाने की छूट देगी शिवराज सरकार, मुकदमे भी होंगे वापस

Nawab Ali, Last updated: Wed, 6th Oct 2021, 6:35 AM IST
  • मध्यप्रदेश में उपचुनाव से पहले आदिवासी वोट साधने के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने झाबुआ में जनजातीय सम्मेलन में घोषणा की है कि शराब नीति में बदलाव कर आदिवासियों को छूट दी जाएगी. सीएम शिवराज सिंह चौहान ने आदिवासियों पर शराब को लेकर हुए मुकदमे भी वापस लेने बात कही है.
मध्यप्रदेश में आदिवासीयों को सरकार शराब बनाने की छूट देगी. (सांकेतिक फोटो)

भोपाल. मध्यप्रदेश में चुनाव से पहले आदिवासी वोट साधने के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने झाबुआ में जनजातीय सम्मेलन में बड़ी घोषणा की है. सीएम शिवराज ने कहा कि शराब नीति में बदलाव कर आदिवासियों को छूट दी जाएगी. सीएम शिवराज सिंह चौहान ने आदिवासियों पर शराब को लेकर हुए मुकदमे भी वापस लेने की बात भी कही है. सीएम ने कहा है कि आदिवासी शराब परंपरा और संस्कृति के निर्वहन के लिए बनाते हैं न कि व्यवसाय के लिए. इस लिए शराब नीति में बदलाव कर आदिवासियों को राहत दी जाएगी. शराब नीति में परिवर्तन होने के बाद आदिवासी महुआ से शराब बना सकेंगे.

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंगलवार को झाबुआ जिले के जनजातीय सम्मलेन में भाग लिया. सम्मलेन में पहुंचने के बाद सीएम ने आदिवासियों के बीच डांस भी किया है. जहां पर उपचुनाव से फेल आदिवासी वोट साधने की कोशिश की है. सीएम शिवराज सिंह चौहान ने घोषणा की है कि शराब नीति में बदलाव कर आदिवासियों को शराब बनाने की छूट दी जाएगी. शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि आदवासी व्यवसाय के लिए शराब नहीं बनाते हैं बल्कि अपनी संस्कृति और परंपरा की रक्षा के लिए ऐसा करते हैं. उन्होंने कहा है कि शराब नीति में बदलाव कर आदिवासियों को राहत दी जाएगी ताकि वो मुकदमेबाजी से बच सकें.

MP में इंजिनियर के घर EOW की छापेमारी, काली कमाई से बन गया करोड़पति

इसके साथ ही सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कांग्रेस भी हमला बोला है. सीएम ने कहा है कि कांग्रेस ने आदिवासियों एक साथ बस छलावा किया है. लेकिन हमारी सरकार आदिवासियों के की परंपरा और संकृति की रक्षा करना चाहती है. मध्यप्रदेश के खंडवा लोकसभा और रैगांव, जोबट व पृथ्वीपुर विधानसभा सीटों पर इसी महीने उपचुनाव होने जा रहे हैं. इन सीटों पर आदवासी वोट का प्रभाव रहता है.

अन्य खबरें