बिरसा मुंडा जयंती पर भोपाल में होगा महासम्मेलन, एक रात पहले सीहोर में ठहरेंगे हजारों लोग

Swati Gautam, Last updated: Sun, 14th Nov 2021, 4:59 PM IST
  • भोपाल में 15 नवम्बर को बिरसा मुंडा की जयंती के अवसर पर जनजातीय गौरव दिवस महासम्मेलन आयोजित किया जाएगा. जो लोग अन्य जिलों से आए हैं वे 14 नवंबर को सीहोर की निर्धारित जगहों पर रात को ठहरेंगे और 15 नवंबर को सुबह भोपाल के लिए रवाना होंगे. सीहोर में 22 हजार लोगों के रूकने, भोजन व अन्य इंतजाम किए गए हैं.
बिरसा मुंडा जयंती पर भोपाल में होगा महासम्मेलन, एक रात पहले सीहोर में ठहरेंगे हजारों लोग. फाइल फोटो 

भोपाल. भोपाल में 15 नवम्बर को बिरसा मुंडा की जयंती के अवसर पर जनजातीय गौरव दिवस महासम्मेलन आयोजित किया जाएगा. इस कार्यक्रम को लेकर शहर में तैयारियां जोरों शोरों से हो रही हैं. बता दें कि इस महासम्मेलन में सीहोर जिले से 12 हजार जनजातीय वर्ग के लोग शामिल होंगे. जो लोग अन्य जिलों से आए हैं वे 14 नवंबर को सीहोर की निर्धारित जगहों पर रात को ठहरेंगे. जिसके बाद 15 नवम्बर को सुबह भोपाल के लिए रवाना होंगे. जिला प्रशासन ने सभी लोगों के लिए बैड और गद्दे लगाकर ठहरने की व्यवस्था कर दी है. कलेक्टर चन्द्र मोहन ठाकुर ने संबंधित अधिकारियों को बाकी इंतजाम करने के निर्देश दिए हैं.

कलेक्टर चन्द्र मोहन ठाकुर ने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि अन्य जिलों से भोपाल जानेवाले 22 हजार लोगों के लिए खाने- पीने और ठहरने की व्यवस्था सीहोर में की जाएगी. इस महासम्मेलन में शामिल होने वाले जो भी लोग अन्य जिलों से आए रहे हैं उनका ध्यान रखना हमारी जिम्मेदारी है. उन्होंने कहा कि अन्य जिलों से आने वाले लोगों को हमारे जिले में प्रवास के दौरान किसी भी प्रकार की परेशानी न हो, इसका विशेष ध्यान रखा जाए. उन्होंने कहा कि खंडवा, बुरहानपुर, बड़वानी सहित अन्य जिलों से आने वाले लोगों के लिए चुने गए स्थानों पर नागरिकों के रूकने, उनके भोजन सहित अन्य इंतजाम किए जाएं.

PM मोदी की भोपाल विजिट को लेकर बदले बसों के रूट, 13 में से 9 के रूट चेंज, 2 पर नहीं दौड़ेंगी बसें

जो लोग 14 नवंबर को सीहोर रुक कर अगले दिन भोपाल जायेंगे उनके लिए कलेक्टर ने जिला परिवहन अधिकारी को निर्देश दिए हैं कि जिले से भोपाल जाने वाले प्रतिभागियों के लाने-ले जाने के लिए पर्याप्त संख्या में बसों की उपलब्धता कराई जाए. साथ ही इससे जाम की स्थिति पैदा न हो इसके लिए बसों का रूट चार्ट बनाया जाए ताकि लोग पर्याप्त समय पूर्व महासम्मेलन स्थल पर पहुंच जाए. इसके अलावा कलेक्टर ने सीएमएचओ को निर्देश दिए कि जिले के विभिन्न रूटों पर एम्बुलेंस मौजूद रहे और उनके चिकित्सक, मेडिकल स्टॉफ और आवश्यक दवाएं भी उपलब्ध रहें. साथ ही बसों में कोविड नियमों का पालन कराया जाए और मेडिकल किट, सेनिटाइजर, मास्क सहित अन्य जरूरी सामग्री की उपलब्धता भी रहे.

अन्य खबरें