नर्सिंग-पैरामेडिकल कोर्सों में दाखिले को प्रवेश परीक्षा का शेड्यूल जारी, ऑनलाइन आवेदन शुरू

Anurag Gupta1, Last updated: Wed, 13th Oct 2021, 4:51 PM IST
  • नर्सिंग-पैरामेडिकल की प्रवेश परीक्षा की अनुसूची जारी कर दी गई है. आवेदन की अंतिम तिथि 11 नवंबर है और प्रवेश परीक्षा की तरीख 20 व 21 नवंबर निर्धारित की गई है. सभी अभ्यर्थियों को क्वालीफाई करने के लिए 50 फीसद अंक लाना अनिवार्य होगा.
परीक्षा देते अभ्यर्थी (फाइल फोटो)

देहरादून. उत्तराखंड स्थित हेमवती नंदन बहुगुना (एचएनबी) मेडिकल विवि ने प्रवेश परीक्षा की अनुसूची मंगलवार को जारी कर दी है. सभी इच्छुक छात्र बुधवार से आवेदन कर पाएंगे. प्रवेश परीक्षा 20 व 21 को निर्धारित की गई है. आवेदन की अंतिम तिथि 11 नवंबर है. इस अनुसूची के जारी होने से लंबे समय से नर्सिंग-पैरामेडिकल कोर्सों में दाखिले का इंतजार कर रहे छात्रों को काफी खुशी मिली है. कुलपति डॉ. हेमचंद्र पांडेय ने बताया कि एएनएम-जीएनएम की प्रवेश परीक्षा 20 नवंबर को होगी. बीएससी नर्सिंग, एमएससी नर्सिंग, बीएससी पैरामेडिकल और पोस्ट बेसिक बीएससी नर्सिंग की प्रवेश परीक्षा 21 नवंबर को होगी.

परीक्षा नियंत्रक प्रो. विजय जुयाल ने बताया कि सभी अभ्यर्थी अपना प्रवेश पत्र 14 नवंबर से डाउनलोड कर सकते हैं. इस परीक्षा से उत्तराखंड में राज्य कोटे की नर्सिंग और पैरामेडिकल से जुड़ी सीटों पर दाखिले होंगे. प्राइवेट नर्सिंग-पैरामेडिकल संस्थानों में 50 फीसद सीटें राज्य कोटे की हैं.  बीएससी नर्सिंग में अगले साल से दखिले नीट के माध्यम से किये जाएंगे. यह व्यावस्था इसी साल से लागू होनी थी लेकिन प्रशासन की ओर से आदेश न मिलने की वजह से इसे टाल दिया गया है. इससे इस साल दाखिला लेने वाले छात्रों को अतिरिक्त मौका मिल गया है. दखिले से जुड़ी अधिक जानकारी के लिए साइट www.hnbumu.ac.in पर भी जा सकते हैं.

Vastu Tips: लाख कोशिशों के बाद भी बिजनेस में नई हो रही तरक्की, वास्तु शास्त्र में छुपा है उपाय

50 फीसद अंक लाना अनिवार्य होगा: 
परीक्षा नियंत्रक प्रो. विजय जुयाल ने बताया कि इस साल बीएससी नर्सिंग की परीक्षा पैटर्न में बदलाव किया गया है. नर्सिंग काउंसिल के नए नियमों के तहत अंग्रेजी और नर्सिंग कौशल परीक्षा (एप्टीट्यूट) का भी सेक्शन जुड़ गया है. प्रवेश परीक्षा में नर्सिंग एप्टीट्यूट, भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान, जीव विज्ञान और अंग्रेजी में 20-20 अंक के सवाल पूछे जाएंगे. प्रोफेसर जुयाल ने बताया कि प्रत्येक अभ्यर्थी को कम से कम तीन परीक्षा केंद्र भरना होगा. अभ्यर्थी को प्रवेश परीक्षा में 50 फीसदी अंक लाना अनिवार्य होगा. यदि किसी के 50 फीसद से कम अंक आते हैं तो उन्हें क्वालीफाई नहीं माना जाएगा.

अन्य खबरें