HC के आदेश के बाद चारधाम यात्रा को शुरू करने की तैयारी में धामी सरकार, बनाई जा रही गाइडलाइन

Nawab Ali, Last updated: Fri, 17th Sep 2021, 12:39 AM IST
  • उत्तराखंड नैनीताल हाईकोर्ट ने चार धामयात्रा से रोक हटा दी है जिसको लेकर उत्तराखण्ड की पुष्कर सिंह धामी सरकार ने तैयारियां शुरू कर दी है. उत्तराखंड के मुख्य सचिव एसएस संधू ने चार धाम यात्रा शुरू किए जाने को लेकर रुद्रप्रयाग, चमोली और उत्तरकाशी के जिलाधिकारियों समेत कई विभागों के अधिकारीयों के साथ सचिवालय में बैठक की है.
उत्तराखंड में चारधाम यात्रा को लेकर सरकार ने तैयारियां शुरू कर दी है.

देहरादून. उत्तराखंड नैनीताल हाईकोर्ट ने चार धाम यात्रा से रोक हटा दी है जिसको लेकर अब उत्तराखण्ड की पुष्कर सिंह धामी सरकार ने तैयारियां शुरू कर दी है. अब चार धाम यात्रा शुरू करने के लिए सरकार ने बड़े स्तर पर तैयारियां शुरू कर दी है. उत्तराखंड के मुख्य सचिव एसएस संधू ने चार धाम यात्रा शुरू किए जाने को लेकर रुद्रप्रयाग, चमोली, और उत्तरकाशी के जिलाधिकारियों समेत कई विभागों के अधिकारीयों के साथ सचिवालय में बैठक की है. मुख्य सचिव की इस बैठक में देवस्थानम बोर्ड के अधिकारी भी शामिल रहे हैं.

उत्तराखंड में चारधाम यात्रा शुरू करने को लेकर पंडे-पुरोहित काफी समय से मांग कर रहे हैं. चारधाम यात्रा से उत्तराखंड के लाखों परिवारों का रोजगार जुड़ा हुआ है. लेकिन नैनीताल हाईकोर्ट के आदेश के बाद चारधाम यात्रा जल्द ही शुरू हो सकती है. मुख्य सचिव एसएस संधू ने सचिवालय में पर्यटन विभाग के साथ बैठक कर तैयारियों का जायजा लिया है. मुख्य सचिव ने अधिकारियों को चारधाम यात्रा रूट पर सड़क सुरक्षा, साफ-सफाई, क्राउड मैनेजमेंट, यातायात व्यवस्था, टेस्टिंग तथा कोविड-19 के नियमों का अनुपालन करवाते हुए विभिन्न व्यवस्थाओं को दुरुस्त करने के निर्देश दिये हैं. उन्होंने कहा कि यात्रा रूट में जहां पर भी सड़क सुधारीकरण के कार्य किये जाने हैं उनको युद्धस्तर पर तत्काल पूरा करें.

उत्तराखंड के 8वें राज्यपाल बने रिटायर्ड लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह, राजभवन में ली शपथ

मुख्य सचिव ने अधिकारीयों को बैठक में निर्देश दिए हैं कि जिन पैदल मार्गों से लोग यात्रा करते हैं उनमें भी मार्ग साफ-सुथरा और सुरक्षित बना रहे तथा उनमें पेयजल, शौचालय इत्यादि की समुचित व्यवस्था की जाए. उन्होंने यात्रा रूट पर चिकित्सकों एवं स्वास्थ्य सुविधाओं को उपलब्ध कराने, वाहनों की फिटनेस, लोगों के पंजीकरण, लोगों को व्हाट्सएप और मैसेज से जरूरी सूचना प्रेषित करने के निर्देश दिए हैं.

अन्य खबरें