ऑनलाइन क्लास देने के नाम पर ठगी का शिकार बना रहे हैं साइबर ठग, ऐसे रहे सावधान

Indrajeet kumar, Last updated: Tue, 25th Jan 2022, 3:18 PM IST
  • ऑनलाइन क्लास देने के नाम पर साइबर ठग एडवांस पैसा मांगकर लोगों को ठगी का शिकार बना रहे हैं. उत्तराखंड बोर्ड के निजी स्कूल में पढ़ने वाले दो बच्चों के अभिभावक से ऑनलाइन क्लास का डेमो देकर ठग ने 3 हजार रुपये ठग लिया. साइबर ठग अनजान नंबर से कॉल कर के लोगों को ऑनलाइन डेमो क्लास देने की बात करते हैं. फिर एडवांस मांग कर लोगों को ठगी का शिकार बना रहे हैं.
प्रतीकात्मक फोटो

देहरादून. ऑनलाइन क्लास के नाम पर ठगी का मामला सामने आया है. पहला मामला उत्तराखंड बोर्ड के निजी स्कूल में पढ़ने वाले दो बच्चों का है. ठग ऑनलाइन क्लास देने के नाम पर तीन हजार रुपये ठग लिए. वहीं दूसरे मामले में सहस्रधारा रोड निवासी एक अभिभावक के दसवीं में पढ़ने वाले बच्चे को एक घंटे डेमो क्लास दी. और इसके बाद 7 हजार रुपये फीस मांगी गई लेकिन बच्चों के अभिभावकों ने पैसे देने से मना कर दिया. अगर आपके पास भी इस तरह के कॉल आते हैं तो सावधान हो जाए. ये ठग भी हो सकते हैं जो डेमो क्लास देकर एडवांस पैसा ठग सकते हैं.

साइबर ठगी करने वाले ये ठग लोगों को अनजान नंबर से कॉल करते हैं और उनसे पूछते हैं कि आपके बच्चे किस क्लास में पढ़ते हैं. जानकारी देने के बाद वह ऑनलाइन क्लास देने की बात करते हैं. इसके बाद कुछ देर डेमो क्लास देकर 3 से 7 हजार रुपये ठग लेते हैं. कई अभिभावक इसके शिकार हो चुके है. साइबर ठग ज्यादातर सरकारी स्कूल के बच्चों को अपना शिकार बना रहे हैं. सरकारी स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों की ऑनलाइन क्लास भी काफी काम हो रही है. ऐसे में सरकारी स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों के अभिभावक जल्दी ठगों के झांसे में आ जाते हैं. 

ऐसे बरते सावधानियां

-कोई कॉल आए और पैसे की मांग करे तो एडवांस पैसे न दें.

-अपने बच्चों की ऑनलाइन पढ़ाई के लिए स्कूल से ही संपर्क करें.

-अगर कोई भी ऑनलाइन क्लास दे रहा हो तो एक महीने के बाद ही फीस देने की बात करें.

उत्तराखंड चुनाव: कांग्रेस की दूसरी लिस्ट जारी, रामनगर से हरीश रावत को टिकट, फुल लिस्ट

इधर उत्तराखंड अभिभावक संघ के मंत्री मनमोहन जायसवाल ने कहा कि इस तरह की कुछ शिकायतें आई हैं.  हमने अभिभावकों को सतर्क किया है किसी के झांसे में ना आएं. ये ठगी करने का तरीका है. स्कूल का सिलेबस स्कूल को ही पता होता है. वहां से पढ़ाई होगी या किसी अपने जानकार से ऑनलाइन क्लास करवा सकते हैं. वहीं उत्तराखंड के डीजीपी अशोक कुमार ने कहा है कि इस तरह के मामलों में सावधानी बरतने की जरूरत है. कोई अगर फोन करके ऑनलाइन क्लास का झांसा दे तो इनकार कर दें. क्योंकि, हर स्कूल में ऑनलाइन क्लास हो रही है. ऐसे लोगों की शिकायत पुलिस से करें, उस पर कार्रवाई करेंगे.

अन्य खबरें