देहरादून: शिया वक्फ बोर्ड के पूर्व चेयरमैन रिजवी के खिलाफ केस दर्ज, DGP से मिलेंगे उलेमा

Nawab Ali, Last updated: Sat, 20th Nov 2021, 10:39 AM IST
  • उत्तर प्रदेश शिया वक्फ बोर्ड के पूर्व चेयरमैन वसीम रिजवी के खिलाफ देहरादून की नगर कोतवाली में केस दर्ज हो गया है. वसीम रिजवी की हाल ही किताब में इस्लाम व पैगंबर को लेकर टिप्पणी से आहत मुस्लिम समुदाय ने गिरफ्तारी की मांग की है.
वसीम रिजवी के खिलाफ धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने का मामला दर्ज. फाइल फोटो

देहरादून. उत्तर प्रदेश के शिया वक्फ बोर्ड के पूर्व चेयरमैन वसीम रिजवी के खिलाफ देहरादून की कोतवाली नगर में मुकदमा दर्ज हुआ है. मुस्लिम समाज के लोगों ने वसीम रिजवी के खिलाफ अपनी नई किताब में गैर मर्यादित टिप्पणी को लेकर कोतवाली नगर में तहरीर दी थी जिसके बाद पुलिस ने मुकदमा दर्ज जांच शुरू कर दी है. शुक्रवार को देहरादून की जामा मस्जिद में मुस्लिम समुदाय के लोगों ने वसीम रिजवी के खिलाफ आक्रोश व्यक्त करते हुए कहा पुलिस को 48 घंटे में गिरफ्तार करने का अल्टीमेटम दिया है.

वसीम रिजवी के खिलाफ नदीम कुरैशी ने मुकदमा दर्ज कराया है. शहर जामा मस्जिद काजी मोहम्मद अहमद कासमी ने कहा है कि रिजवी ने किताब के जरिये पैगंबर की शान में गुस्ताखी की है जिसे बर्दाश्त नहीं किया जायेगा. शहर काजी मोहम्मद अहमद कासमी ने कहा है कि उत्तराखंड के उलेमा और जिम्मेदार लोगों ने सोमवार को डीजीपी अशोक कुमार से मिलने का वक्त लिया है. उनसे मुलाकात में वसीम रिजवी की गिरफ्तारी की मांग की जाएगी साथ ही अगर वसीम रिजवी की गिरफ्तारी नहीं होती है तो सर्वसमाज और मुस्लिम समाज मिलकर उत्तराखंड बंद करेगा.

उत्तराखंड कांग्रेस ने जनता से मांगे घोषणापत्र के लिए सुझाव, टोल फ्री नंबर जारी

शहर कोतवाल रितेश शाह का कहना है कि तहरीर में आरोप लगाया गया है कि 12 नवंबर को हरिद्वार में यूपी के शिया वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी ने गैर मर्यादित भाषा का इस्तेमाल किया है. साथ ही पैगंबर मोहम्मद के खिलाफ विवादित पुस्तक का विमोचन किया है. रितेश शाह ने बताया है कि तहरीर में धार्मिक ठेस पहुंचाने का जिक्र किया है. जिसके बाद पुलिस ने मुकदमा दर्ज करते हुए तथ्यों के आधार पर जांच शुरू कर दी है.

 

अन्य खबरें