दिवाली की रात मां-बाप समेत फैमली के 4 लोगों का मर्डर करने वाले बेटे को फांसी की सजा

MRITYUNJAY CHAUDHARY, Last updated: Tue, 5th Oct 2021, 6:35 PM IST
  • देहरादून में 2014 में एक ही परिवार के 4 लोगों की हत्या के केस में आरोपी को अदालत में फांसी की सजा सुनाई है. आरोपी कोई और नहीं बल्कि मृतक पिता की पहली बीवी का बेटा था. जिसे सजा भांजे की गवाही के चलते मिली है.
भांजे की गवाही से पिता, सौतेली मां समेत परिवार के चार लोगों के हत्यारे को फांसी की सजा

देहरादून. देहरादून में 2014 में एक ही परिवार के पिता, सौतेली मां, बहन और भांजी की हत्या करने वाले आरोपी को अदालत ने फांसी की सजा सुनाई है. इसके साथ ही कोर्ट ने हत्यारे पर एक लाख रुपए का जुर्माना भी लगाया है. आरोपी को सजा उसके ही भांजे की गवाही के चलते मिली है. दरअसल जब आरोपी ने परिवार के चार लोगों की हत्या की तब उस रात को भांजा बेड के नीचे छुप जाने के कारण बच गया. जिसकी गवाही के चलते ही आरोपी को फांसी की सजा हुई है. 

जानकारी के अनुसार एक ही परिवार के चार लोगों की हत्या चकराता रोड स्थित आदर्शनगर में 2014 में 23-24 अक्टूबर की रात को हुई थी. इस रात आरोपी ने होर्डिंग व्यवसायी पिता जय सिंह, सौतेली मां कुलवंत कौर, सौतेली बहन हरजीत कौर और भांजी सुखमणी की चाकुओं से गोदकर हत्या कर थी. इस समय सौतेली बहन गर्भवती भी थी. वहीं घर मे उस दौरान मौजूद भांजा कंवलजीत सिंह बेड के नीचे छुप जाने से बच गया. जो इस केस में हम गवाह बना. 

केदारनाथ, बद्रीनाथ, यमुनोत्री, गंगोत्री जाने वालों को राहत, HC ने चार धाम यात्रा को लेकर किया बड़ा फैसला

पुलिस ने इस केस के बारे में बताया कि आरोपी हरमीत होर्डिंग व्यवसायी की पहली पत्नी का बेटा था. जिसे लगता था कि उसके पिता सारी संपत्ति से उसे और उसकी मां को बेदखल कर देंगें. जिसका गुस्सा उसके दिलो-दिमाग मे भरा हुआ था. जो दीवाली की रात फूटा तो परिवार के ही चार लोगों की हत्या कर दी. इतना ही नहीं सम्पत्ति का कोई हकदार नहीं बचे इसके लिए उसने अपने जीजा को भी कॉल करके बुलाया था, लेकिन वह उस रात नहीं आ सके. 

पुलिस ने आगे बताया कि आरोपी बेटे ने यह वारदात रामपुर चाकू से दिया था. साथ ही उसने क्लोरोफार्म भी खरीदा था. जिससे परिवार वालों को बेहोश कर दिया था. आरोपी सजा दिलाने के लिए साक्ष्य के रूप में उसकी खून से सनी चप्पल, वारदात के दौरान पहनी खून से सनी शर्ट और लोअर, कत्ल में उपयोग हुए चाकू पर अंगुलियों के निशान और भांजे की गवाही से आरोपी हरमीत को फांसी की सजा हुई.

अन्य खबरें