हरिद्वार धर्म संसद में भड़काऊ भाषण मामले में वसीम रिजवी के बाद अन्य दो संतों पर केस दर्ज

Shubham Bajpai, Last updated: Sun, 26th Dec 2021, 7:59 PM IST
  • उत्तराखंड के हरिद्वार में आयोजित धर्म संसद में भड़काऊ भाषण देने के मामले में शिया वक्फ बोर्ड के पूर्व चेयरमैन वसीम रिजवी उर्फ जितेंद्र नारायण त्यागी के बाद दो अन्य स्थानीय संतों के खिलाफ जांच के बाद मामला दर्ज कर लिया गया है.
हरिद्वार धर्म संसद में भड़काऊ भाषण मामले में वसीम रिजवी के बाद अन्य दो पर केस दर्ज

देहरादून. उत्तराखंड के हरिद्वार में हुई धर्म संसद मामले में पुलिस लगातार कार्रवाई कर रही है. धर्म संसद में भड़काऊ भाषण मामले में यूपी के शिया वक्फ बोर्ड के पूर्व चेयरमैन वसीम रिजवी उर्फ जितेंद्र नारायण त्यागी के खिलाफ मामला दर्ज के बाद हरिद्वार के दो संतों के खिलाफ पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है. पुलिस ने धर्म विशेष के खिलाफ भड़काऊ भाषण देने के मामले में जांच के बाद धर्मदास और साध्वी अन्नपूर्णा के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया.

धर्म संसद के कई विडियो वायरल हुए है. जिसमें धर्म विशेष के खिलाफ भड़काऊ भाषण देने के बाद ज्वालापुर निवासी गुलबहार खां ने जितेंद्र त्यागी समेत कई अज्ञात के खिलाफ कोतवाली पुलिस को तहरीर दी थी.

विवादित बयान की वीडियो वायरल होने पर जितेंद्र त्यागी उर्फ वसीम रिजवी पर हरिद्वार में FIR

कॉपी किताब त्याग उठा लो हथियार

उत्तराखंड के हरिद्वार में 17 से 19 दिसंबर के दौरान धर्म संसद में कई संतों ने धर्म विशेष के खिलाफ भड़काऊ भाषण दिया. संसद के कई विडियो सोशल मीडिया में वायरल हुए. जिसमें हिंदू समाज को कॉपी किताब त्यागने और हथियार उठाने को कहा जा रहा है. इस दौरान समुदाय विशेष के खिलाफ हेट स्पीच वाले इन वीडियो पर पुलिस ने मामला दर्ज किया.

गोडसे की तरह कलंकित क्यों न हो

वीडियो में हिंदू महासभा की अन्नपूर्णा साध्वी ने कहा अगर हिंदुत्व पर खतरा मंडराएगा तो मैं कुछ भी नहीं सोचूंगी. चाहे गोडसे की तरह कलंकित क्यों न कर दो. मगर मैं शस्त्र उठाकर हिंदुत्व को बचाऊंगी. 2029 तक मुसलमान प्रधानमंत्री नहीं होने देंगे ये संकल्प लें.

हिंदू महासभा की नेता का विवादित बयान- कॉपी-किताब रख दो, हथियार उठा लो

बता दें कि जूना अखाड़े के महामंडलेश्वर यति नरसिंहानंद गिरि ने हरिद्वार में धर्म संसद का 17 दिसंबर से 19 दिसंबर तक आयोजन किया था. जिसमें भाजपा नेता भाजपा नेता अश्विनी उपाध्याय, स्वामी प्रबोधानंद, निरंजनी अखाड़े की महामंडलेश्वर मां अन्नपूर्णा, धर्मदास महाराज समेत कई साधु-संत पहुंचे थे. धर्म संसद में धर्म विशेष को लेकर भड़काऊ भाषण देने के आरोप लगाए जा रहे हैं. जिस पर पुलिस ने मामला भी दर्ज किया है.

 

अन्य खबरें