बद्रीनाथ, केदारनाथ समेत चारों धामों में लगातार बर्फबारी, यात्रिओं को दी गई ये सलाह

Sumit Rajak, Last updated: Mon, 18th Oct 2021, 9:34 PM IST
  • उत्तराखंड में मौसम को लेकर भविष्यवाणी सटीक साबित हुई है. उत्तराखंड में लगातार हो रही बारिश के बाद बद्रीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री सहित सहित चार धाम में लगातार हिमपात जारी है.अन्य इलाकों में बारिश और ठंड से तापमान में भारी गिरावट आ गई है. तमक में पहाड़ियों से लगातार पत्थर और बोल्डर गिरने से चिंताजनक स्थिति बनी हुई. चमोली जिले में 8 से अधिक सड़के बाधित हो गई है.
फाइल फोटो

देहरादून. उत्तराखंड में मौसम को लेकर भविष्यवाणी सटीक साबित हुई. उत्तराखंड में लगातार हो रही बारिश के बाद बद्रीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री सहित सहित चार धाम में लगातार हिमपात जारी है. बद्रीनाथ में नर नारायण पर्वत, हेमकुंड, नंदादेवी, रूपकुंड, नीलकंठ,नन्दा घंघुटी  पर्वत सहित आसपास के इलाकों में हिमपात जारी है. अन्य इलाकों में बारिश और ठंड से तापमान में भारी गिरावट आ गई है.सोमवार की सुबह से ही बारिश के बाद आए मलबे से बदरीनाथ हाईवे पागल नाले पर बोल्डर के कारण मार्ग अवरुद्ध रहा भारत-चीन सीमा को जोड़ने वाला हाईवे भी तमक में बाधित है. सीमा चौकियों पर आने जाने वाले सेना के वाहन भी रुके हैं. तमक में पहाड़ियों से लगातार बोल्डर औरगिरने से चिंताजनक स्थिति बनी हुई है.विपरीत मौसम के कारण जिलाधिकारी हिमांशु खुराना ने मंगलवार तक भी यात्रियों को यथा स्थान पर रुकने की सलाह दी थी.

मौसम एडवाइजरी अलर्ट के चलते सोमवार को सभी स्कूल कॉलेज बंद रहे. भारी ठंड और लगातार बारिश के कारण जनजीवन अस्त व्यस्त रहा. स्थानीय लोग अपने घरों में दुबकने पर मजबूर हुए. जबकि सोमवार को बद्रीनाथ में 500 लोग रुके रहे. साथ ही बद्रीनाथ मंदिर में पूजा अर्चना हमेशा की तरह होती रही. कुछ यात्रियों ने दर्शन पूजन भी किया. उत्तराखंड चार धाम जानेवाले तीर्थयात्री सोमवार सुबह तक बड़ी संख्या में ऋषिकेश एवं हरिद्वार पहुंचे हैं. उन सभी तीर्थ यात्रियों को प्रशासन द्वारा उन्हें सुरक्षित स्थानों पर रहने की अपील की है. इस क्रम में कई तीर्थयात्री हरिद्वार रेलवे स्टेशन एवं ऋषिकेश बस अड्डे पर रुके हुए हैं.

उत्तराखंड में तेज बारिश, देहरादून समेत कई जिलों में सोमवार को स्कूल बंद

सुरक्षा दीवाल के निकट नदी का प्रवाह सामान्य है. मंदिर में सुबह से कुछ तीर्थयात्री ने दर्शन किए हैं. जबकि बद्रीनाथ आने जाने वाले यात्री गोपेश्वर कर्णप्रयाग, चमोली, जोशीमठ, पांडुकेश्वर आदि स्थानों में तीर्थयात्री फिलहाल जहां तक पहुंचे हैं. उन्हीं स्थानों पर मंगलवार तक सुरक्षित रुकने को प्रशासन की तरफ से कहा जा रहा है. चमोली जिले में 8 से अधिक सड़के बाधित हो गई है. देवस्थान बोर्ड के मीडिया प्रभारी डॉ हरीश गौड़ ने बताया कि चारों धाम श्री बद्रीनाथ, श्री केदारनाथ, श्री गंगोत्री, श्री यमुनोत्री, धाम में नित्य प्रतिदिन होने वाली पूजा संपन्न हो रही है. हालांकि बारिश एवं बर्फबारी के कारण चारों धामों में मौसम ठंड हो गया है. जो तीर्थयात्री धामों में रुके हैं. वह सुरक्षित हैं और मंदिर में दर्शन हेतु भी पहुंच रहे हैं. हालांकि मौसम सामान्य होने के बाद ही वह अपने गंतव्य को प्रस्थान करेंगे.

 

अन्य खबरें