PM मोदी के केदारनाथ दौरे पर पुजारियों का विरोध नहीं, CM धामी ने ली 30 नवंबर की मोहलत

Shubham Bajpai, Last updated: Wed, 3rd Nov 2021, 8:37 PM IST
  • पीएम नरेंद्र मोदी के 5 नवंबर को उत्तराखंड दौरे से पहले सीएम पुष्कर सिंह धामी बुधवार को केदारनाथ पहुंचे और केदारनाथ दौरे के दौरान पीएम के विरोध का ऐलान कर चुके पुजारियों को मना लिया. अब पुरोहित-पंडित पीएम मोदी का स्वागत करेंगे. धामी ने पुजारियों की आपत्तियों को 30 नवंबर तक सुलझाने का भरोसा दिया है.
PM मोदी के केदारनाथ दौरे पर पुजारियों का विरोध नहीं, CM ने ली 30 नवंबर की मोहलत (फोटो सभार लाइव हिंदुस्तान)

देहरादून. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 5 नवंबर दौरे को लेकर तीर्थ पुरोहित उसका विरोध करने की चेतावनी दे चुके हैं. जिसको लेकर बुधवार को मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी अन्य दो मंत्रियों के साथ केदारनाथ पहुंचे. सीएम धामी ने देवस्थानम बोर्ड के विरोध में प्रदर्शन कर रहे तीर्थ पुरोहितों के प्रतिनिधि मंडल से मुलाकात की. बैठक के बाद उन्होंने आश्वासन दिया कि सरकार कभी भी पुजारियों के सम्मान और भावनाओं को ठेस नहीं पहुंचाएगी और 30 नवंबर तक इस मसले का हल जरूर निकाल देगी. जिसके बाद तीर्थ पुरोहित अब पीएम मोदी के दौरे का विरोध न करने को राजी हुए हैं. इस दौरान सीएम धामी, कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल, हरक सिंह रावत ने पीएम मोदी के दौरे की तैयारियों का जायजा भी लिया.

तीर्थ पुरोहितों ने कहा गर्मजोशी से करेंगे पीएम का स्वागत

सीएम धामी से मुलाकात के बाद चार धाम तीर्थ पुरोहित हक हकीकी महापंचायत के अध्यक्ष केके कोटियाल ने कहा कि हमसे सीएम धामी की बात हुई है. उन्होंने 30 नवंबर तक समय मांगा है. हम पुजारी हैं और हमारा मुख्य काम पूजा करना और तीर्थयात्रियों को आर्शीवाद देना है न कि विरोध करना. हम नवंबर के अंत तक इंतजार करेंगे. हम पीएम मोदी के दौरे का विरोध नहीं करेंगे बल्कि गर्मजोशी से उनका स्वागत करेंगे.

हरीश रावत संग दर्शन को केदारनाथ पहुंचे पंजाब CM चन्नी और सिद्धू

केदारनाथ में इस तरह पहले नहीं हुआ काम

सीएम धामी ने कहा कि पीएम मोदी के दौरे से पहले व्यवस्थाओं की जांच की. लगभग सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं. केदारनाथ में जिस तरह अभी काम हो रहा है पहले कभी नहीं हुआ. हम इसके लिए पीएम मोदी का धन्यवाद देते हैं. वहीं, कैबिनेट मंत्री और सरकार के प्रवक्ता सुबोध उनियाल ने बताया कि पुजारियों से मुलाकात कर बैठक की गई. जिसमें उन्हें आश्वासन दिया कि राज्य सरकार 30 नवंबर तक बोर्ड से संबंधित मामला सुलझा लेगी.

उत्तराखंड में सरकार ने जारी की कोरोना गाइडलाइन, यें छूट दी गई हैं

बता दें कि देवस्थानम बोर्ड के विरोध में तीर्थ पुरोहित लंबे समय से विरोध कर रहे हैं. जिसके चलते विगत दिनों पहले केदारनाथ दर्शन करने पहुंचे पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को तीर्थ पुरोहितों का विरोध झेलना पड़ा. विरोध इतना अधिक था कि त्रिवेंद्र सिंह बिना दर्शन करे ही वापस चले गए. जिसके बाद तीर्थ पुरोहितों ने पीएम मोदी के दौरे के दौरान विरोध करने की चेतावनी दी थी. जिसको लेकर प्रदेश सरकार और संगठन तीर्थ पुरोहितों को मनाने में लगा हुआ था ताकि पीएम के दौरे के दौरान कोई अप्रिय स्थिति न बने.

 

अन्य खबरें