CM धामी का निर्देश- तीर्थ यात्रियों के साथ बुरा व्यवहार बिल्कुल नहीं होगा बर्दाश्त

MRITYUNJAY CHAUDHARY, Last updated: Mon, 4th Oct 2021, 11:22 PM IST
  • उत्तराखंड सीएम पुष्कर सिंह धामी ने रुद्रप्रयाग, चमोली और उत्तरकाशी के जिलाधिकारियों और पुलिस प्रमुखों के साथ बैठक किया. इस दौरान सीएम धामी ने इन्हे निर्देश दिया कि तीर्थयात्रियों के लिए बेहतर सुविधा प्रदान करने का निर्देश दिया. साथ ही कहा कि तीर्थयात्रियों के साथ दुर्व्यवहार बिल्कुल बर्दाश्त नहीं किया जाएगा.
CM धामी का निर्देश- तीर्थ यात्रियों के साथ दुर्व्यवहार बिल्कुल बर्दाश्त नहीं किया जाएगा (ANI Photo)

देहरादून. उत्तराखंड मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सोमवार को रुद्रप्रयाग, चमोली और उत्तरकाशी के जिलाधिकारियों और पुलिस प्रमुखों को निर्देश जारी किए, जहां चार धाम तीर्थस्थल स्थित हैं वहां पर तीर्थयात्रियों को तीर्थयात्रा के दौरान किसी भी असुविधा या कठिनाई का सामना न करना पड़े उसके लिए बेहतर सुविधा प्रदान करने का निर्देश दिया है. साथ ही उन्होंने अधिकारीयों से कहा कि तीर्थयात्रियों के साथ दुर्व्यवहार बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं किया जाएगा.

इसके साथ ही सीएम धामी ने कहा कि “तीर्थयात्रियों को किसी भी असुविधा का सामना नहीं करना चाहिए. तीर्थयात्रियों को बेहतर सुविधा प्रदान करने के लिए हर संभव प्रयास किए जाएंगे. तीर्थयात्रियों को राज्य से एक अच्छा संदेश लेकर लौटना चाहिए. यह हम सबकी जिम्मेदारी है. अगर तीर्थयात्रा के दौरान एक भी तीर्थयात्री को यहां कोई समस्या आती है तो मुझे दुख होगा. इसके साथ ही सीएम धामी ने चार धाम यात्रा के लिए आने के इच्छुक तीर्थयात्रियों से चार धाम बोर्ड पोर्टल पर अपना पंजीकरण कराने की भी अपील की.

उत्तराखंड चारधाम यात्रा: बिना ई-पास वाले श्रद्धालु परेशान, खाने-पीने का इंतजाम नहीं

उत्तराखंड सरकार ने चार धाम यात्रा शुरू होने पर मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) जारी की थी. जिसके अनुसार यात्रा पर आने वाले तीर्थयात्रियों को RTPCR/TrueNat/CBNAAT/RAT COVID रिपोर्ट या दोनों कोविड -19 खुराक के लिए प्रमाण पत्र और चार धाम यात्रा के लिए ई-पास लाना अनिवार्य किया गया था. वहीं ई-पास के लिए चार धाम देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड की वेबसाइट से आवेदन किया जा सकता है.

अन्य खबरें