उत्तराखंड: केंद्र और राज्य की अलग-अलग स्वरोजगार योजनाओं को बढ़ाने में धामी सरकार की कयावद तेज

Priya Gupta, Last updated: Mon, 13th Sep 2021, 4:30 PM IST
  • उत्तराखंड सरकार केंद्र और राज्य सरकार की योजनाओं के लक्ष्य को बढ़ाने में जुट चुकी है.
सीएम पुष्कर सिंह धामी 

देहरादून: धामी सरकार केंद्र और राज्य की अलग-अलग स्वरोजगार योजनाओं के लक्ष्य को बढ़ाने में जुटी चुकी है. नए लक्ष्य अनुपूरक बजट का हिस्सा बनने जा रहे हैं. इस योजना में किसी तरह की कोई दिक्क न आए इसलिए संबंधित विभागों को बैंकों को भेजे जाने वाले आवेदन पत्रों की गुणवत्ता जांचने और उनमें रह गई खामियों को दूर करने के निर्देश मुख्य सचिव डॉ. एसएस संधु ने दिए हैं. धामी सरकार ने तकरीबन एक लाख व्यक्तियों को स्वरोजगार मुहैया कराने का लक्ष्य रखा है.

1 से 15 सितंबर तक प्रदेश में इसके लिए बाकायदा अभियान चलाया जाएगा. स्वरोजगार योजना को तेजी से आगे बढ़ाया जा सके इसलिए सीएम खुद निगरानी कर रहे हैं. इस कड़ी में पहली चुनौती विभागों की ओर से ही आ रही है. सरकारी पत्रावलियों में स्वरोजगार की जितनी बेहतर तैयारी की जाती है, हकीकत में उसे परवान चढ़ाने और पात्रों को स्वरोजगार मुहैया कराने में पसीने छूटने की नौबत आने लगती है.

बिना ड्राइवर दौड़ा आधा ट्रक, ऐसा वीडियो आपने लाइफ में कभी नहीं देखा होगा

मुख्य सचिव डा संधु ने विभागों को दस बिंदुओं पर पुख्ता तैयारी के निर्देश दिए हैं. विभागों को बैंकों को स्वीकृत कर भेजे जाने वाले स्वरोजगार प्रस्तावों की गुणवत्ता पर खास जोर देने को कहा है. आवेदन पत्रों की जांच उनकी गुणवत्ता के आधार पर की जाएगी. विभाग बैंकों को गुणवत्ता के साथ किए गए आवेदन 31 अगस्त तक मुहैया कराएंगे. बैंकों को 30 सितंबर तक पात्रों को लोन देना होगा. स्वरोजगार के लिए दी जाने वाली सब्सिडी के साथ ब्याज दर पर भी रियायत देने पर विभागों को मंथन करने को कहा गया है.

अन्य खबरें