केदारनाथ धाम: यात्रियों की संख्या पर लगा प्रतिबंध हटा, गर्भ गृह के भी कर सकेंगे अब दर्शन

Uttam Kumar, Last updated: Wed, 6th Oct 2021, 2:50 PM IST
उत्तराखंड हाईकोर्ट ने चारधाम आने वाले श्रद्धालुओं की संख्या पर लगा प्रतिबंध हटा दिया है. हालांकि कोविड प्रोटोकॉल का पालन करना अनिवार्य होगा. अब श्रद्धालुओं को सिर्फ उत्तराखंड में प्रवेश के लिए स्मार्ट सिटी की साइट पर पंजीकरण कराना होगा. साथ ही श्रद्धालु अब श्री केदारनाथ धाम के गर्भ गृह में भी प्रवेश कर सकते हैं. 
उत्तराखंड हाईकोर्ट ने चारधाम आने वाले श्रद्धालुओं की संख्या पर लगा प्रतिबंध हटा दिया  है.(फाइल फोटो)

देहरादून.उत्तराखंड हाईकोर्ट ने चारधाम आने वाले श्रद्धालुओं की संख्या पर लगा प्रतिबंध हटा दिया है. हालांकि कोविड प्रोटोकॉल का पालन करना अनिवार्य होगा. इसके साथ ही देवस्थानम बोर्ड ने भी चारधाम आने वाले श्रद्धालुओं को राहत दी है. अब श्रद्धालुओं को चारधाम की यात्रा करने के लिए लिए देवस्थानम बोर्ड की वेबसाइट पर पंजीकरण नहीं कराना पड़ेगा. श्रद्धालुओं को सिर्फ उत्तराखंड में प्रवेश के लिए स्मार्ट सिटी की साइट पर पंजीकरण कराना होगा. साथ ही श्रद्धालु अब श्री केदारनाथ धाम के गर्भ गृह में भी प्रवेश कर सकते हैं.  

कोविड के कारण उत्तराखंड हाईकोर्ट ने प्रतिदिन चार धाम यात्रा के लिए आने वाले श्रद्धालुओं की संख्या तय कर दिया था. जिसके कारण श्रद्धालुओं को काफी लंबा इंतेजार करना पड़ रहा था. हाईकोर्ट के अनुसार पहले प्रति दिन बद्रीनाथ में 1000,केदारनाथ में 800, यमुनोत्री में 400,  गंगोत्री में कुल 600 श्रद्धालुओ को ही आने की अनुमति  थी. अब ऐसी कोई पाबंदी नहीं है, लेकिन सभी श्रद्धालुओं को कोविड प्रोटोकॉल का पालन करना होगा.   

CM धामी का निर्देश- तीर्थ यात्रियों के साथ बुरा व्यवहार बिल्कुल नहीं होगा बर्दाश्त

रविनाथ रमन, सीईओ देवस्थानम बोर्ड  के अनुसार अब श्रद्धालुओं की संख्या के आने पर किसी तरह की पाबंदी नहीं है. इसलिए देवस्थानम बोर्ड की वेबसाइट पर पंजीकरण करने का कोई औचित्य नहीं है. मास्क और सेनेटाइजेशन जरूरी होगा. केदारनाथ धाम और बदरीनाथ के दर्शन के लिए में दर्शन के लिए श्रद्धालुओं को निशुल्क मैनुअल टोकन दिया जाएगा. जिसके अनुसार श्रद्धालुओं को दर्शन के लिए निर्धारित समय मिलेगा. ताकि परिसर में ज्यादा भीड़ नहीं लगे. टोकन व्यवस्था होने के कारण श्रद्धालुओं को दर्शन के लिए लंबे समय तक लाईन में नहीं लगना होगा. 

उत्तराखंड चारधाम यात्रा: बिना ई-पास वाले श्रद्धालु परेशान, खाने-पीने का इंतजाम नहीं

श्रद्धालु को अब केदारनाथ धाम के गर्भ गृह में प्रवेश करने की इजाजत मिल गई है, लेकिन श्रद्धालुओं को कोविड प्रोटोकॉल के तहत श्रद्धालु मूर्तियों को स्पर्श, जलाभिषेक नहीं कर सकते. साथ ही भगवान केदारनाथ के ज्योर्तिलिंग का लेपन करने की भी इजाजत नहीं है. श्रद्धालुओं को केदारनाथ धाम के गर्भ गृह में केवल एक बार परिक्रमा कर सकते हैं. वहीं बदरीनाथ में श्रद्धालुओं को अभी सामाजिक दूरी के तहत ही दर्शन करना होगा. श्रद्धालुओं को केदारनाथ, बद्रीनाथ की यात्रा के लिए देहरादून स्मार्ट सिटी पोर्टल    http://smartcitydehradun.uk.gov.in/ पर जाकर पंजीकरण करना होगा.

 

अन्य खबरें