नए साल 1 जनवरी से ATM नकद निकासी के बदल जाएंगे नियम, जानें RBI की नई गाइडलाइन

Smart News Team, Last updated: Fri, 31st Dec 2021, 8:08 PM IST
  • नए साल 1 जनवरी 2022 से एटीएम से नकद निकासी के नियम में बदलाव होने जा रहे है. वहीं यह बदलाव भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) की घोषणा के बाद हो रहा है. जिसके अनुसार एटीएम से नकद निकासी शुल्क 1 जनवरी 2022 से बढ़ा दिया जाएगा.
नए साल 1 जनवरी से ATM नकद निकासी के बदल जाएंगे नियम, जानें RBI की नई गाइडलाइन

1 जनवरी 2022 से एटीएम से मासिक लेनदेन में बदलाव होने जा रहा है. नए साल से उपभोक्ताओं को मुफ्त मासिक सीमा समाप्त होने के बाद अधिक भुगतान करना होगा. एटीएम से नकद निकासी के नियम में बदलाव भारतीय रिजर्व बैंक के द्वारा जारी किए गए घोषणा के बाद हो रही है. इसको लेकर  ICICI बैंक, HDFC बैंक और एक्सिस बैंक ने अपने ग्राहकों के लिए पहले ही सुचना जारी कर दी है. जैसे ऋणदाताओं ने नकद और गैर-नकद एटीएम के लिए बढ़े हुए शुल्क के बारे में अपनी वेबसाइट को अपडेट किया है.

केंद्रीय बैंक ने बैंकों को जनवरी 2022 से नकद और गैर-नकद एटीएम लेनदेन के लिए मुफ्त मासिक अनुमेय सीमा से अधिक शुल्क बढ़ाने की अनुमति दी. वहीं इस नए नियम के मुताबिक 1 जनवरी 2022 से, ग्राहकों को मुफ्त लेनदेन की मासिक सीमा से अधिक होने पर  20 के बजाय  21 प्रति लेनदेन का भुगतान करना होगा. बता दें कि बैंक ग्राहक अपने स्वयं के बैंक एटीएम से हर महीने पांच मुफ्त लेनदेन की सुविधा प्रदान करता है.

New year: चांदी के बेड पर सोना है तो करें 18 लाख का भुगतान, यहां मिलेगी सुविधा

एटीएम से नकद निकासी के नियम की घोषणा जून 2019 में आरबीआई द्वारा गठित एक समिति के सुझावों के आधार पर की गई है. वहीं इस नए नियम की घोषणा करते हुए आरबीआई की तरफ से कहा गया कि उच्च इंटरचेंज शुल्क के लिए बैंकों को क्षतिपूर्ति करने और लागत में सामान्य वृद्धि को देखते हुए, उन्हें ग्राहक शुल्क बढ़ाकर  21 प्रति लेनदेन करने की अनुमति है. यह वृद्धि 1 जनवरी, 2022 से प्रभावी होगी.

अन्य खबरें