धर्मेश येलांदे अपने संघर्ष की कहानी को सुनाते हुए इमोशनल

Smart News Team, Last updated: 14/12/2020 02:30 PM IST
  • कोरियोग्राफर धर्मेश ने अपनी जिदंगी में आज के मुकाम पर पहुचने के लिए किए हुए स्ट्रगल पर एक इंटरव्यू में बात कि. साथ ही अपनी जिंदगी में उनकी परिवार का साथ ओर स्थिति के बारे में बताया.
धर्मेश येलांदे की कहानी

कोरियोग्राफर धर्मेश येलांदे ने अपने दम पर अपनी दमदार पहचान बनाई है. आज धर्मेश एक कोरियोग्राफर और एक बहुत ही बेहतरीन डांसर के तौर पर जाने जाते है. धर्मेश कि जिंदगी पहले बहुत ज्यादा दुख भरी थी. धर्मेश कि आर्थिक स्तिथि अच्छी नहीं थी. जिसकी वजह से धर्मेश को काफी कुछ सहना पड़ा. उनकी ये आज जिस मुकाम पर है वहा तक पहुंचने का सफ़र आसान नहीं रहा है. धर्मेश को असली और जबरदस्त पॉपुलैरिटी डांस इंडिया डांस के मंच से मिली. 

एक इंटरव्यू के दौरान धर्मेश ने अपने आर्थिक दिक्कतों और अपने परिवार को लेकर बात कि साथ ही खुदके स्ट्रगल के बारे में भी बताया.ह्यूमंस ऑफ बॉम्बे से बात करते हुए धर्मेश ने बताया कि म्युनिसिपैलिटी ने धर्मेश के पिता कि दुकान तोड दी थी. जिसके बाद धर्मेश के परिवार के लिए जीवन जीना मुश्किल हो गया. ये सब देख कर धर्मेश के पिता जी ने चाय कि दुकान खोली. जिससे वो दिन में 50 से 60 रूपए ही कमा पाते थे. ऐसे में 4 लोगो का खिलाना मुश्किल था.

मंगेतर निधि सिंह संग पुनीत जे पाठक ने रचाई शादी, देखें फोटो वीडियो

 ये सब पर भी धर्मेश के पिता जी ने हमेशा पढ़ाई करने के लिए प्रोत्साहित किया और वो पढ़ाई के लिए हमेशा पैसे बचाते थे. आर्थिक संकटों के बाद भी धर्मेश के पिता जी ने धर्मेश के डांस के टैलेंट को पहचान कर उनका एडमिशन डांस क्लास में कराया. धर्मेश ने बताया कि जब वो 19 साल के थी स्कूल छोड़ दिया साथ ही एक प्युन के रूप में काम किया और बच्चो को डांस सिखाया. जिससे उनको 1600 रूपए को आय होती थी. नौकरी छोड़कर मुंबई आने पर बूगी बूगी शो में पार्टी में पार्टिसिपेट किया और विनर रहे. यहां से उनकी जिदंगी ने मोड बदला.

अन्य खबरें