जमानत याचिका में रिया ने खुद को बताया निर्दोष कहा- 'विच-हंट' का शिकार हुई

Smart News Team, Last updated: Thu, 24th Sep 2020, 11:18 AM IST
  • एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की मौत से जुड़े ड्रग्स केस में जेल में बंद रिया चक्रवर्ती ने बॉम्बे हाईकोर्ट में जमानत याचिका दाखिल की है. याचिका में उन्होंने खुद को निर्दोष बताया है और खुद को 'विच हंट' का शिकार बताया है.
जमानत याचिका में रिया ने खुद को बताया निर्दोष कहा- 'विच-हंट' का शिकार हुई

बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की मौत से जुड़े ड्रग्स केस में एनसीबी द्वारा गिरफ्तार एक्ट्रेस रिया चक्रवर्ती ने बॉम्बे हाईकोर्ट में जमानत याचिका दाखिल की है. इस याचिका में उन्होंने खुद को निर्दोष बताया है. और कहा है कि नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) 'जानबूझ कर' उन पर और उनके परिवार पर गंभीर आरोप लगा रहा है. अपनी जमानत याचिका में रिया चक्रवर्ती ने खुद को 'विच हंट' (संदिग्ध व्यक्तियों की तलाश अभियान) का शिकार बताया है. 

मंगलवार को बॉम्बे हाईकोर्ट में दाखिल जमानत याचिका में रिया चक्रवर्ती ने कहा है कि वह सिर्फ 28 साल की है और वह एनसीबी समेत पुलिस और केन्द्रीय एजेसियों की तीन जांच और साथ ही ‘समानांतर मीडिया ट्रायल’ का सामना कर रही हैं. अपनी दायर याचिका में रिया चक्रवर्ती ने कहा कि यह सब उसके मानसिक स्वास्थ्य और सेहत पर बुरा असर डाल रहा है. अपने वकील के माध्यम से दायर याचिका में कहा कि हिरासत की अवधि बढ़ने से उनके मानसिक स्थिति और भी बिगड़ जाएगी.

शादी के 13 दिन बाद पूनम पांडे ले रही सैम से तलाक! हनीमून पर कराया पति को अरेस्ट

रिया चक्रवर्ती ने अपने वकील के माध्यम से दायर याचिका में दावा किया है कि सुशांत सिंह राजपूत मादक पदार्थ का सेवन करते थे. याचिक में दावा किया गया है कि राजपूत गांजा का सेवन करते थे. और वह तब से इसका सेवन कर रहे थे जब दोनों में संबंध भी नहीं थे. आगे याचिका में कहा गया है कि कभी-कभी वह उनके लिए 'कम मात्रा में मादक पदार्थ की खरीद भी करती थीं और 'कई मौकों पर उन्होंने इसके लिए भुगतान भी किया.' लेकिन वह खुद किसी भी मादक पदार्थ गिरोह की सदस्य नहीं हैं.

रोबिनहुड बिहार के गाना हुआ रिलीज, पूर्व DGP गुप्तेश्वर पांडेय आए नजर

एक्ट्रेस ने अपने याचिका में कहा है कि उन्हें एनडीपीएस अधिनियम की धारा 27 ए के तहत गलत तरीके से फंसाया गया है. उनके पास से कोई मादक पदार्थ जब्त नहीं किया गया और एनसीबी सभी आरोपियों के पास से सिर्फ 59 ग्राम मादक पदार्थ जब्त करने में सफल रही. ऐसे में जमानत पर रोक लगाने का नियम उन पर लागू नहीं होता है.

 

 

अन्य खबरें