मनी लॉन्ड्रिंग मामले में नोरा फतेही के बाद जैकलीन फर्नांडिस से आज हो सकती है ED की पूछताछ

Somya Sri, Last updated: Fri, 15th Oct 2021, 12:46 PM IST
  • मनी लॉन्ड्रिंग मामले में बॉलीवुड अभिनेत्री नोरा फतेही से पूछताछ के बाद आज ईडी जैकलीन फर्नांडिस से पूछताछ कर सकती है. नोरा फतेही और जैकलिन फर्नांडीस से जेल में बंद सुकेश चंद्रशेखर द्वारा की गई 200 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी और मनी लांड्रिंग केस के तहत पूछताछ की जा रही है. गुरुवार को दिल्ली में प्रवर्तन निदेशालय कार्यालय में नोरा फतेही की करीब 9 घंटे की पूछताछ हुई थी.
नोरा फतेही और जैकलीन फर्नांडिस (फाइल फोटो)

दो सौ करोड़ रुपये के मनी लॉन्ड्रिंग मामले में बॉलीवुड अभिनेत्री नोरा फतेही गुरुवार को दिल्ली में प्रवर्तन निदेशालय के अधिकारियों के सामने पेश हुई. करीब 9 घंटे की पूछताछ के बाद गुरुवार की रात 8:30 बजे ईडी की ऑफिस से बाहर निकली. इस बीच खबर है कि इस मनी लॉन्ड्रिंग मामले में नोरा फतेही के बाद आज जैकलीन फर्नांडिस से पूछताछ हो सकती है. नोरा फतेही और जैकलिन फर्नांडीस से जेल में बंद सुकेश चंद्रशेखर द्वारा की गई 200 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी और मनी लांड्रिंग केस के तहत पूछताछ की जा रही है.

बता दें कि नोरा फतेही से पहले अगस्त महीने में जैकलीन फर्नांडिस से मनी लॉन्ड्रिंग मामले में ईडी पूछताछ कर चुकी है. सूत्रों के मुताबिक ईडी के अधिकारियों ने कहा है कि दोनों अभिनेत्रियों को अब तक इस मामले में संदिग्ध नहीं माना जा रहा है वे केवल कुछ बिंदुओं पर शामिल होकर जांच एजेंसी की सहायता कर रही हैं.

बिग बॉस ओटीटी विनर दिव्या अग्रवाल ने बताया कब करेंगी वरुण सूद संग शादी

क्या है मामला?

दरअसल, 24 अगस्त को चेन्नई के एक बंगले में जांच एजेंसी ने छापेमारी की थी. जहां से रोल्स रॉयस घोस्ट, फेरारी 458 इटालिया, लैंबॉर्गिनी उरूस और मर्सिडीज़ जैसी कई हाई एंड कारें बरामद की गई थी. जिसके बाद से दिल्ली की रोहिणी जेल में बंद सुरेश चंद्रशेखर पर करोड़ों की धोखाधड़ी, जबरन वसूली सहित कई आरोपों पर दिल्ली पुलिस और ईडी कई लोगों से पूछताछ कर रही है.

क्यों जेल में बंद है सुकेश चंद्रशेखर?

मिली जानकारी के मुताबिक साल 2017 अप्रैल के महीने में सुकेश चंद्रशेखर को चुनाव आयोग रिश्वत मामले में गिरफ्तार कर लिया गया था. सुकेश पर आरोप है कि उन्होंने एआईएडीएमके(अम्मा) पार्टी के नेता टी टी वी दिनाकरण से रिश्वत लिए थे. उनपर आरोप है कि उन्होंने ये रिश्वत एआईएडीएमके के चुनाव प्रतीक 'दो पत्ते' से जुड़े विवाद पर चुनाव आयोग के एक अधिकारी को रिश्वत देने के लिए थे.

अन्य खबरें