महाराष्ट्र गवर्नर से कंगना और बहन रंगोली की मुलाकात, बोलीं- न्याय चाहिए

Smart News Team, Last updated: 13/09/2020 08:25 PM IST
  • बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत ने महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोशियारी से मुलाकात की. इस मुलाकात में कंगना ने पिछले दिनों उनके दफ्तर पर चले बीएमसी के बुल्डोजर के बारे में राज्यपाल को जानकारी दी.
बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत और उनकी बहन रंगोली, महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोशियारी से मुलाकात करते हुए

बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत ने शिवसेना से जारी तकरार के बीच रविवार को महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोशियारी से मुलाकात की . एक्ट्रेस ने मुलाकात से जुड़ी तस्वीरें ट्वीटर एकाउंट पर साझा करके इसकी जानकारी दी. कंगना के साथ उनकी बहन रंगोली भी मौजूद थी. यह मुलाकात तकरीबन पौने घंटे तक चली.

राज्यपाल से मुलाकात करने के बाद कंगना रनौत ने कहा कि वह कोई नेता नहीं है और उन्हें उम्मीद है कि उन्हें न्याय मिलेगा. मुलाकात के पीछे की वजह के बारे में पूछने पर कंगना ने कहा मैंने राज्यपाल से मेरे साथ हुए अन्याय के बारे में बात की. वह यहां पर हमारे पेरेंट्स की तरह है, जैसा व्यवहार मेरे साथ हुआ है ,उसी के बारे में मैंने उन्हें बताया. मुझे उम्मीद है कि मुझे न्याय मिलेगा ताकि हमारे देश की महिलाओं का भरोसा सिस्टम पर वापस लौटे. मैं कोई नेता नहीं हूं और ना राजनीति से कोई लेना देना है .आज अचानक से मेरे साथ अभद्र व्यवहार हो रहा है. राज्यपाल साहब ने मुझे बेटी की तरह सुना और मुझे उम्मीद है कि न्याय मिलेगा.

 

गौरतलब है कि कंगना और शिवसेना के बीच तनातनी शब्द तब शुरू हुई .जब एक्ट्रेस ने सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद मुंबई पुलिस और मुंबई को लेकर प्रतिक्रिया दी थी. एक्ट्रेस ने आरोप लगाया था कि बॉलीवुड इंडस्ट्री में 99% एक्टर एक्ट्रेस ड्रग्स लेते हैं .इसके अलावा उन्होंने कहा था कि मुंबई पुलिस सुशांत मामले की जांच सही तरीके से नहीं कर रही है . बाद में कंगना ने कहा कि मुंबई मुझे पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर की तरह लगती है. इसके बाद से यह पूरा बवाल शुरू हो गया .इस पर शिवसेना के नेता संजय राउत और कंगना रनौत के बीच विवाद इतना बढ़ गया कि बीएमसी ने कंगना के दफ्तर को लेकर नोटिस थमा दिया और नोटिस थमाने के 24 घंटे के भीतर ही बीएमसी ने कंगना के दफ्तर का एक हिस्सा तोड़ दिया.

कंगना रनौत ने माना- कभी हुआ करती थी ड्रग एडिक्ट, देखें वायरल वीडियो

इस पूरे मामले पर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने भी राज्य की जनता को संबोधित करते हुए कहा कि उनकी चुप्पी को कमजोरी ना समझा जाए. ठाकरे ने कहा कि अभी हमारा पूरा ध्यान कोरोनावायरस पर है. सही समय आने पर बात करेंगे. यह महाराष्ट्र सरकार को बदनाम करने की साजिश रची जा रही है.

 

URL - Kangana Ranaut after meeting the governor, I don't need politics I just want justice

अन्य खबरें