यूसुफ खान से कैसे दिलीप कुमार बने बॉलीवुड के ट्रेजेडी किंग, पढ़ें दिलचस्प किस्सा

Smart News Team, Last updated: Wed, 7th Jul 2021, 11:08 AM IST
बॉलीवुड के ट्रेजडी किंग दुनिया को अलविदा कह गए. दिलीप कुमार के निधन से हिंदी सिनेमा में शोक की लहर है और अभिनेता से लेकर राजनेता उन्हें श्रद्धांजलि दे रहे हैं. आज हम आपको बता रहे हैं कि दिलीप कुमार ने अपना नाम क्यों बदला था.
बॉलीवुड के मशहूर अभिनेता दिलीप कुमार का बुधवार को 98 साल की उम्र में निधन हो गया

बॉलीवुड के ट्रेजेडी किंग कहे जाने वाले मशहूर अभिनेता दिलीप कुमार का बुधवार सुबह निधन हो गया. दिलीप कुमार ने मुंबई के हिन्दुजा अस्पताल में 98 साल की उम्र में दुनिया को अलविदा कह दिया. दिलीप कुमार काफी दिनों से बीमार चल रहे थे, उनके निधन पर बॉलीवुड सहित देश के बड़े नेताओं ने भी शोक जताया है. दिलीप कुमार तो दुनिया छोड़ के चले गए लेकिन रह गईं हैं तो उनके पीछे उनकी भूली बिसरी यादें जो हर किसी के दिल में दबी रह जाएंगी.

दिलीप कुमार हिंदी सिनेमा का ऐसा नाम है, जो महज 25 साल की उम्र में भारतीय सिनेमा का महानायक बन गया था. क्या आपको पता है कि दिलीप कुमार का असली नाम मोहम्मद यूसुफ खान था और वह बॉलीवुड के पहले खान थे. आपको बता दें कि दिलीप साहब अपने पिताजी से बेहद डरते थे क्योंकि वह बेहद सख्त और मजहबी थे. इतना ही नहीं उनके पिता ये कभी नहीं चाहते थे कि उनका बेटा सिनेमा में काम करें.

इस कारण बदला था ना

हिंदी सिनेमा में दिलीप कुमार को लॉन्च करने वाली बॉम्बे टॉकीज की मालकिन देविका रानी ने उन्हें नाम बदलने को कहा था. दिलीप कुमार ने भी उनका कहना मान लिया था क्योंकि उन्होंने ये सोचा था कि उनके इस नाम से पिताजी को भी पता नहीं चलेगा कि उनका काम क्या है. इसके बाद उन्होंने इस नाम को अपना लिया था जो उन्हें स्क्रीन पर अलग पहचान देने लगा.

इस नाम को बदलने का दूसरा कारण ये भी था कि देविका रानी उस समय अशोक कुमार से नाराज थीं. इसलिए वह पर्दे पर एक और कुमार को चाहती थीं, इसलिए उन्होंने उनका नाम बदला. फिर क्या देविका रानी की जिद और दिलीप कुमार के पिता सरवर खान की मजबूरी ने यूसुफ खान को दिलीप कुमार बना दिया.

दिलीप कुमार के निधन पर राजनेताओं ने जताया शोक, PM मोदी-CM योगी ने दी श्रद्धांजलि

दिलीप कुमार ने फिल्मी करियर की शुरुआत ज्वार भाटा से की थी हालांकि ये फिल्म हिट नहीं हुई था. फिर 1947 में रिलीज हुई फिल्म जुगनू ने उन्हें फिल्मी दुनिया में खड़ा कर दिया. इसके बाद 1955 में आई फिल्म देवदास में गंभीर भूमिकाओं के कारण उन्हें ट्रजडी किंग कहा जाने लगा. दिलीप कुमार ने कर्मा, विधाता, दुनिया, मुगले-आजम और सौदागर जैसी कई हिट फिल्मों में काम किया.

अन्य खबरें