Collar Bomb Review: सस्पेंस से भरी फिल्म की कहानी में दम नहीं, जिमी शेरगिल दमदार

Smart News Team, Last updated: Sat, 10th Jul 2021, 7:07 PM IST
  • अगर आप Disney Hostar पर रिलीज नई फिल्म कॉलर बॉम्ब देखने की तैयारी कर रहे हैं तो एक बार हमारा रिव्यू पढ़ते जाइए. फिल्म में जिमी शेरगिल, आशा नेगी, जमताड़ा फेम स्पर्श श्रीवास्तव और राजश्री देशपांडे नजर आई हैं. इस सस्पेंस फिल्म को दियानेश ने डायरेक्ट किया है और निखिल नायर फिल्म के लेखक हैं.
सस्पेंस भरपूर लेकिन कहानी कमजोर, वर्दी में जमे जिमी शेरगिल

कहानी की शुरुआत मनाली के नजारों के साथ है जो पहले ही सीन में आपका मन मोह ले. हालांकि, फिल्म रोमांटिक नहीं बल्कि सस्पेंस थ्रिलर है इसलिए थोड़ी फिल्म आगे बढ़ते ही आप नजारों को भूलकर स्टोरी को सुलझाने में लग जाएंगे. फिल्म में मनोज हेंसी ( जिमी शेरगिल) एक सुपर कॉप के रोल में हैं जो एक स्कूली बच्ची के मर्डर केस को सॉल्व कर विभाग से प्रमोशन और लोगों से वाहवाही लूट रहा है लेकिन पीछे की असलियत कुछ और है. यही सुपरकॉप मनोज हेंसी अब अपने बेटे को अच्छे स्कूल में एडमिशन दिलाना चाहता है और उसी स्कूल में बच्ची की शोकसभा में शामिल होने भी जाता है. स्कूल में चल रही शोक सभा में अचानक एक सुसाइड बॉम्बर अंदर घुस आता है और लोगों को अपने साथ उड़ाने की धमकी देने लगता है.

उस समय आपको देखकर लगेगा कि ये कोई आतंकवादी हमला है लेकिन आपकी सोच के अनुसार ऐसा कुछ नहीं होता और धीरे-धीरे बढ़ती फिल्म में वह आतंकी बना लड़का (स्पर्श श्रीवास्तव) सिर्फ एक मोहरा नजर आता है जिसे एक महिला कंट्रोल कर रही है. उस महिला की दुश्मनी सुपर कॉप (जिमी शेरगिल) से है जो शोकसभा में मौजूद बच्चों और टीचरों की जान बचाने के लिए उसे तीन टास्क दिलवाती है. महिला की शर्त है कि जैसे-जैसे उन टास्क को पूरा करेगा, वैसे-वैसे कॉलर में लगा बॉम्ब डिफ्यूज होता चला जाएगा. अगर एक भी टास्क पूरा नहीं किया तो बम फट जाएगा और वहां मौजूद अन्य बच्चों के साथ कॉप का खुद का बेटा भी नहीं बच पाएगा. 

कृति सेनन की ‘मिमी’ के रिलीज डेट का ऐलान, इस दिन ओटीटी पर देख सकेंगे फिल्म

दूसरी ओर कॉप की जूनियर अफसर और फिल्म की एक्ट्रेस आशा नेगी भी इस मामले में लगातार छानबीन करती हैं और टास्क के नाम पर क्राइम कर रहे सुपरकॉप को पकड़ने की पूरी कोशिश करती हैं. अब टास्क क्या है, और कैसे वह बच्चों को बचाएगा और कौन वह महिला, यह जानने के लिए आपको फिल्म को देखना होगा. यहीं पढ़ लेंगे तो शायद सस्पेंस फिर सस्पेंस न रहे.

फिल्म में जिमी शेरगिल के साथ-साथ आशा नेगी भी एक पुलिस ऑफिसर के किरदार में दमदार नजर आईं हैं. खास बात है कि उन्होंने एक्टिंग भी दमदार की और हर सीन में अपने रोल के साथ न्याय किया. वहीं फिल्म की दूसरी एक्ट्रेस राजश्री देशपांडे ने भी अच्छा अभिनय किया है और धीरे-धीरे वे भी फिल्म की मजबूत कड़ी बनती नजर आती हैं. फिल्म में हिंदू-मुस्लिम एकता और छोटे स्तर के नेताओं की राजनीति जैसी समाजिक चीजें भी डाली गई हैं.

अब आप सोच रहे होंगे कि हम क्यों देखे.. ऐसा है तो बता दें कि अगर आप सस्पेंस पसंद इंसान हैं तो फिल्म को देखा जा सकता है. या आप जिमी शेरगिल के फैन हैं तो भी आपको फिल्म अच्छी लग सकती है. लेकिन अगर आप इनमें से कुछ नहीं हैं तो टाइम पास के लिए फिल्म को देखा जा सकता है. हमारी तरफ से फिल्म को पांच में से तीन स्टार दिए जाते हैं. और साथ ही उम्मीद करते हैं कि अगली बार होटस्टार पर कोई सस्पेंस लवर्स के लिए फिल्म आए तो उसकी कहानी भी मजबूत हो.

अन्य खबरें