अभिनेता गजेंद्र चौहान बोले- मस्जिद में मदरसा तो मंदिर में गुरुकुल क्यों नहीं ?

Smart News Team, Last updated: 08/12/2020 01:51 PM IST
फिल्म अभिनेता गजेंद्र सिंह शेखावत ने हाल ही में एक ट्वीट करके मंदिरों में भी गुरुकुल खोलने की बात कही है. उन्होंने कहा कि जब मंदिरों के साथ मदरसा, चर्च के साथ कान्वेंट स्कूल खोला जा सकता है तो मंदिरों के अंदर भी गुरुकुल खुलने चाहिए.
गजेंद्र चौहान ने हाल ही में ट्वीट करके मंदिरों में गुरुकुल खोलने की बात कही है.

फिल्म अभिनेता गजेंद्र चौहान ट्विटर की मैदानी जंग में उतर आए हैं. शनिवार को उन्होंने ट्वीट करके मंदिरों में भी गुरुकुल खोलने की बात कही. उन्होंने लिखा कि मस्जिद के साथ मदरसा संचालित है, चर्च के साथ कान्वेंट स्कूल तो मंदिरों के अंदर भी गुरुकुल चलने चाहिए. वरना यह भी बंद हो.

उनकी ट्वीट के बाद कई लोगों ने उनकी इस बात का समर्थन किया. सनातन धर्म नाम के एक यूजर ने लिखा कि बिल्कुल सही बात है सर। आज भी गुरुकुल शिक्षा देते हुए विदेशी षड्यंत्र के कारण संस्कृति रक्षक संत निशाने पर है.

अक्षरा सिंह ने लाल रंग से स्टाइलिश आउटफिट में कराई फोटोशूट, फैंस बोले- ‘रेड रोज’

वहीं एक यूजर ने लिखा कि मंदिरों की भी आश्रम चलते हैं। जिनमें आशाराम, राम रहीम जैसे गुरु शिक्षा देते हैं। फिर उससे योगी जैसे महंत मोदी जैसे साइंटिस्ट और पात्रा जैसे डॉक्टर निकलते हैं। पूरी मेहनत से देश के विकास का काम करते हैं होता नहीं है वो अलग बात है.

इसके अलावा एक यूजर ने लिखा कि तुम्हारे जैसे धर्म के दल्लों को किसानों द्वारा अनाज दाल बंद कर देनी चाहिए. फिर सर पर रख कर नाचना इन मंदिर और मस्जिदों को।

भोजपुरी एक्ट्रेस काजल राघवानी को कुल्हड़ वाली चाय से है प्यार, शेयर की फोटो

गजेंद्र सिंह शेखावत के इस ट्वीट को 32 हज़ार लोगों ने पसंद किया है. जबकि 5 हज़ार से ज्यादा लोगों ने इसे रिट्वीट भी किया है. आपको बता दें कि गजेंद्र चौहान ने कई चर्चित फिल्मों में काम किया है. खाना क्यों नहीं प्रसिद्धि महाभारत में उनके निभाए युधिष्ठिर के किरदार से मिली थी. हाल ही में गजेंद्र चौहान ने ट्विटर में अपनी एंट्री की है. गौरतलब है कि अकाउंट वेरीफाई होने के बाद वे लगातार ट्वीट्स कर रहे हैं.

अन्य खबरें