नेपोटिज्म पर 'तारक मेहता का उल्टा चश्मा' के 'जेठालाल' ने रखी अपनी बात

Smart News Team, Last updated: 05/12/2020 04:31 PM IST
  • नेपोटिज्म के मुद्दे पर सीरियल ' तारक मेहता का उल्टा चश्मा ' में जेठालाल का किरदार निभा रहे दिलीप जोशी ने अपना एक बयान दिया है. जिसमे वो नेपोटिज्म को संस्कृति बताते है.
नेपोटिज्म पर दिलीप जोशी ने तोड़ी चुप्पी

नेपोटिज्म एक बहुत बड़ा चर्चा का विषय बना रहता है. नेपोटाइज्म एंटरटेन इंडस्ट्री का एक ऐसा मुद्दा है, जो कभी नहीं खतम होगा. आए दिन कोई न कोई नेपोटिज्म के मुद्दे पर बात करते हुए दिखाई देता है. चाहे वो बड़े परदे के सितारे हो या फिर छोटे परदे के सितारे. ऐसे बहुत सारे कलाकार है जिन्हे नेपॉटिज्म का कई बार सामना करना पड़ा है. ऐसा भी कई बार देखा गया है कि एक टैलेंटेड कलाकार को रिजेक्ट कर दिया जाता है जबकि वो डिजर्विंग कैंडिडेट है.

 इसकी वजह ये भाई भतीजावाद ही है. नेपोटिज्म के मुद्दे पर सीरियल ' तारक मेहता का उल्टा चश्मा ' में जेठालाल का किरदार निभा रहे दिलीप जोशी ने अपना एक बयान दिया है नेपोटिज्म को लेकर.सोनी सब पर आने वाला सीरियल ' तारक मेहता का उल्टा चश्मा ' में जेठालाल का किरदार निभा रहे दिलीप जोशी ने एक यूट्यूब चैनल को दिए हुए इंटरव्यू ने कहते है कि दिलीप जोशी को अपने करियर में कभी भी नेपोटिज्म का सामना नहीं करना पड़ा है.

K3 में काजोल-शाहरुख के बेटे का रोल करने वाले जिबरान खान की देखें लेटेस्ट फोटो

 दिलीप जोशी आगे कहते है कि नेपोटिज्म हमारी एक संस्कृति है. अगर कोई व्यापारी है उसने अपना काम अच्छे से किया हुआ है, जमाया हुए है तो अगर उसका बेटा बी उस काम में आना चाहता है तो ये कोई ये बड़ी बात नहीं है. दिलीप जोशी ने यह भी कहा कि को टैलेंटेड है उसकी मौका मिलना ही चाहिए.

 

अन्य खबरें