जानिए क्या होती है सरोगेसी, जिससे प्रियंका बनीं मां, पोस्ट शेयर कर दी जानकारी

Ruchi Sharma, Last updated: Sat, 22nd Jan 2022, 8:51 AM IST
  • बॉलीवुड एक्ट्रेस प्रियंका सरोगेसी से मां बन चुकी हैं. सरोगेसी मां बनने की लिस्ट में प्रियंका अकेली नहीं हैं. बॉलीवुड के कई कपल इससे पहले भी सरोगेसी से पेरेंट्स बन चुके हैं. सरोगेसी में कोई भी शादीशुदा कपल बच्चा पैदा करने के लिए किसी महिला की कोख किराए पर ले सकता है.
प्रियंका चोपड़ा और निक जोनस (तस्वीर-साभार सोशल मीडिया )

बॉलीवुड की देसी गर्ल अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा मां बन गई हैं. इस बात की जानकारी उन्होंने खुद सोशल मीडिया पर दी है. बच्चे का जन्म सेरोगेसी के जरिए हुआ है. प्रियंका चोपड़ा ने साल 2018 में अमेरिकी गायक निक जोनस से शादी के बंधन में बंधी थी. सरोगेसी मां बनने की लिस्ट में प्रियंका चोपड़ा अकेली नहीं हैं. बॉलीवुड के कई कपल इससे पहले भी सरोगेसी से पेरेंट्स बन चुके हैं. सरोगेसी में कोई भी शादीशुदा कपल बच्चा पैदा करने के लिए किसी महिला की कोख किराए पर ले सकता है. सरोगेसी से बच्चा पैदा करने के पीछे कई वजहें हो सकती हैं.

अभी हालही में सेरोगेसी को लेकर एक फिल्म भी बनी थी. फिल्म में पंकज त्रिपाठी की सलाह पर कृति सेनन सरोगेट मां बनती हैं. सरोगेसी यानी कोख किसी और महिला की और बच्चा किसी और का. फिल्म की कहानी कुछ ऐसी है कि पैसों के लिए पंकज की सलाह पर डांसर कृति विदेशी कपल के लिए सरोगेट मदर बनने के लिए तैयार हो जाती हैं. वहीं इससे पहले रानी मुखर्जी व प्रीति जिंटा की फिल्मी 'चोरी चोरी चुपके चुपके' भी सेरोगेसी पर आधारित थी.

 

 

आइए जानते हैं क्या है सेरोगेसी का मतलब..

सरोगेसी क्या है

सरोगेसी में कोई कपल बच्चा पैदा करने के लिए किसी महिला की कोख किराए पर ले सकता है. सरोगेसी में कोई महिला अपने या फिर डोनर के एग्स के जरिए किसी दूसरे कपल के लिए गर्भवती होती है. सरोगेसी से बच्चा पैदा करने के पीछे कई वजहें हो सकती है. जैसे कि कपल से बच्चे नहीं हो पा रहे हैं. या बच्चे पैदा करने के लिए मां की जान को खतरा है या ऐसी कई दिक्कतें होती है जिसकी वजह से कपल सेरोगेसी के लिए तैयार होता है.

सरोगेसी के लिए होता है एग्रीमेंट

जो औरत अपनी कोख में दूसरे का बच्चा पालती है, वो सरोगेट मदर कहलाती है. सरोगेसी के लिए सबसे पहले जिसकी कोख ली जा रही है उसके व महिला के बीच एग्रीमेंट होता है. एग्रीमेंट के तहत ये बात तय करानी होती है कि गर्भ से पैदा होने वाले बच्चे के कानूनन माता-पिता वो कपल ही होंगे, जिन्होंने सरोगेसी कराई है. सरोगेट मां को प्रेग्नेंसी के दौरान अपना ध्यान रखने और मेडिकल जरूरतों के लिए पैसे दिए जाते हैं ताकि वो गर्भावस्था में अपना ख्याल रख सके.

अन्य खबरें