पूनम पांडे के पोर्न वीडियो मामले में SC का बड़ा फैसला, गिरफ्तारी पर लगाई अंतरिम

Ruchi Sharma, Last updated: Wed, 19th Jan 2022, 4:44 PM IST
  • सुप्रीम कोर्ट ने पूनम पांडे को एडल्ट फिल्म रैकेट से जुड़े एक मामले में गिरफ्तारी पर अन्तरिम रोक लगाई है. जिसमें बालीवुड अभिनेत्री शिल्पा शेट्टी के पति राज कुंद्रा भी शामिल थे. पूनम पांडे ने इस मामले को लेकर अग्रिम जमानत के लिए अदालत का दरवाजा खटखटाया था, जिसमें अभिनेत्री शिल्पा शेट्टी के पति राज कुंद्रा को गिरफ्तार किया गया था.
सुप्रीम कोर्ट से पूनम पांडे को मिली राहत (तस्वीर-साभार सोशल मीडिया )

अभिनेत्री और मॉडल पूनम पांडे को सुप्रीम कोर्ट से बड़ी राहत मिली है. सुप्रीम कोर्ट ने पूनम पांडे को एडल्ट फिल्म रैकेट से जुड़े एक मामले में गिरफ्तारी पर अन्तरिम रोक लगाई है. जिसमें बालीवुड अभिनेत्री शिल्पा शेट्टी के पति राज कुंद्रा भी शामिल थे. पूनम पांडे ने इस मामले को लेकर अग्रिम जमानत के लिए अदालत का दरवाजा खटखटाया था, जिसमें अभिनेत्री शिल्पा शेट्टी के पति राज कुंद्रा को गिरफ्तार किया गया था. हालांकि, अभिनेत्री को कोर्ट की तरफ से राहत नहीं मिला और उनकी याचिका को बाम्बे हाईकोर्ट ने 25 नवंबर, 2021 को खारिज कर दिया था. न्यायमूर्ति विनीत सरन और न्यायमूर्ति बीवी नागरत्ना की खंडपीठ ने पूनम पांडे की याचिका खारिज की थी. अदालत ने आदेश दिया कि पूनम के खिलाफ कोई दंडात्मक कार्रवाई नहीं होगी.

पूनम पांडे की याचिका में कहा गया है कि उन्होंने पुलिस के साथ सही तरीके के कार्डिनेट किया था और वह हर जांच में भाग ली थीं. फिर भी उनकी अग्रिम जमानत याचिका खारिज कर दी गई और उनके खिलाफ प्रथम दृष्टया कोई अपराध नहीं हुआ. याचिका में कहा गया है कि उन्होंने जांच में सक्रिय रूप से सहायता की है और जांच अधिकारियों के हर सवाल का जवाब दिया है. हालांकि, उच्च न्यायालय ने बिना किसी आधार के अग्रिम जमानत आवेदन को खारिज कर दिया है.

 

Pavitra Rishta 2 Trailer: मानव-अर्चना के बीच राजवीर, विवेक दहिया की एंट्री से शो में ट्विस्ट

 

याचिकर्ता के खिलाफ शिकायत की सामग्री के रूप में अपराध की सामग्री नहीं बनाई गई है और प्राथमिकी किसी भी अपराध या उसके कारण होने का खुलासा नहीं करती है. वह ऐसी किसी भी वेबसाइट या आनलाइन प्लेटफार्म की मालिकिन या व्यावसायिक भागीदार नहीं है, याचिकाकर्ता के खिलाफ एकमात्र आरोप यह है कि याचिकाकर्ता को कथित रूप से चित्रित करने वाला कुछ वीडियो वेबसाइट पर उपलब्ध है... इस संबंध में, यह आवश्यक है कि इन वेबसाइटों, जिनमें कथित तौर पर याचिकाकर्ता के कुछ वीडियो हैं, उन्हें जल्द हटाया जाए.

अन्य खबरें