यूपी चुनाव के मद्देनजर भारत नेपाल-सीमा पर अलर्ट, पहली बार लगेंगे सीसीटीवी कैमरे

Indrajeet kumar, Last updated: Tue, 21st Dec 2021, 5:16 PM IST
  • आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर पहली बार यूपी अंतरराज्यीय और अंतर्राष्ट्रीय सीमाओं के संवेदनशील इलाकों में सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे. गोरखपुर जोन की पुलिस ने जून में 143 कैमरे लगाने के लिए जगह तय कर लिया है. गोरखपुर जोन पुलिस ने इसकी रिपोर्ट पुलिस महानिदेशक कार्यालय को भेज दी है.
यूपी चुनाव के मद्देनजर भारत नेपाल-सीमावर्ती इलाकों में लगाए जाएंगे सीसीटीवी कैमरे

गोरखपुर. यूपी में आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर पहली बार अंतर्राष्ट्रीय और अंतरराज्यीय सीमा पर पड़ने वाले बैरियरों पर सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे. सरकार के पहल पर गोरखपुर जोन की पुलिस ने जून में 143 कैमरे लगाने के लिए जगह का चुनाव कर लिया है. साथ ही विभाग को रिपोर्ट भी भेज दी है. गोरखपुर जोन के कई जनपद की सीमाएं बिहार और नेपाल से सटी है. इसलिए पंचायत चुनाव हो या लोकसभा या विधानसभा चुनाव गोरखपुर जोन की पुलिस बेहद सावधानी बरती है. अंतरराष्ट्रीय और अंतरराज्यीय  बॉर्डर से सटे पुलिस नाकों और रास्तों पर बैरियर लगाकर पिकेट तैनात की जाती है. पुलिस चुनाव शांतिपूर्ण और निष्पक्ष ढंग से कराने के लिए बाहरी लोगों का प्रवेश प्रतिबंधित कर देती है. साथ ही आने जाने वाले लोगों की सघन तलाशी ली जाती है. इस बार शासन के निर्देश पर गोरखपुर जोन मैं और ज्यादा सुरक्षा बढ़ा दी गई है.

पुलिस महानिदेशक कार्यालय ने रिपोर्ट मांगी थी कि अंतरराज्यीय राष्ट्रीय सीमाओं पर स्थित नाकों और बैरियरों पर जहां-जहां ज्यादा जरूरी सुरक्षा देनी हो वहां सीसी कैमरे लगाए जाए. गोरखपुर जोन के अपर पुलिस महानिदेशक अखिल कुमार के निर्देश पर अंतरराष्ट्रीय और अंतर राज्य बॉर्डर से जुड़े जिलों में पुलिस अधिकारियों द्वारा अपनी रिपोर्ट तैयार की गई है. जॉन की पुलिस ने जरूरत के हिसाब से जहां-जहां सीसी कैमरे लगाए जाने हैं. उन जगहों को चिन्हित कर रिपोर्ट भेज दी है, जो ने अपनी रिपोर्ट में 143 जगहों को चिन्हित किया है.

गोरखपुर: प्रेमी संग भागी शादीशुदा महिला अब पति संग रहने की जिद्द पर अड़ी, जानें

देवरिया और कुशीनगर जिले की सीमाएं बिहार राज्य से सकती है. इन दोनों जनपदों में अंतर राज्य सीमा ऊपर 44 बैरियर लगाए जाएंगे. इनमें 20 बैरियर देवरिया जनपद में और 24 कुशीनगर जनपद में बनाए जाते हैं. सूत्रों का कहना है कि पुलिस ने जिन जगहों पर सीसी कैमरे लगाए जाने की रिपोर्ट भेजी है. उनके कारण भी बताए गए हैं इनमें अपराधियों के आने जाने की सुविधा वाले जगह तस्करी और क्रिमिनल छवि के लोगों के जॉन की सीमा में घुसकर चुनाव को प्रभावित करने की आशंका है. विधानसभा चुनाव के दौरान इस बार अंतर्राष्ट्रीय और अंतर राज्य सीमाओं पर पुलिस की पिकेट भी बढ़ा दी जाएगी. इसके लिए संबंधित जिलों के पुलिस अधिकारियों से रिपोर्ट तैयार करवाई जा रही है. जिस जगह भी जितने सुरक्षाकर्मियों की जरूरत होगी उतने सुरक्षाकर्मी तैनात किए जाएंगे.

अन्य खबरें