गोरखपुर: 6 महीने से गोली का छर्रा सिर में लेकर घूम रहा 12 साल का लड़का, पढ़िए मामला

Indrajeet kumar, Last updated: Wed, 13th Oct 2021, 5:02 PM IST
  • गोरखपुर के बांसगांव थाना क्षेत्र के बेलूडीहा गांव में पंचायत चुनाव के दौरान हुई गोलीबारी में पांचवीं में पढ़ने वाले एक बारह साल के बच्चे को सिर में गोली का छर्रा लग गया. मेडिकल बोर्ड के जांच रिपोर्ट के मुताबिक बच्चे के सिर में छर्रा मौजूद है. जिसका ऑपरेशन लखनऊ के KGMU अस्पताल में किया जाएगा.
प्रतीकात्मक फोटो

गोरखपुर. गोरखपुर जिले के बांसगांव थाना क्षेत्र के बेलूडीहा गांव में पांचवीं में पढ़ने वाला एक छात्र करीब छह महीने से माथे में गोली का छर्रा लिए घूम रहा है. अदालत कर आदेश के बाद मेडिकल बोर्ड का गठन हुआ था. अदालत के आदेश के मुताबिक मेडिकल बोर्ड के रिपोर्ट के बाद बच्चे के सिर का ऑपरेशन किया जाएगा. मिली जानकारी के मुताबिक इस बच्चे के अलावा दो और लोगों को भी छर्रे लगे हैं. इन दोनों लोगों को भी एक से दो दिनों में मेडिकल बोर्ड के सामने हाजिर होना पड़ेगा. गोली चलने की घटना पंचायत चुनाव जे दौरान की है.

बांसगांव क्षेत्र में पड़ने वाले बेलूडीहा गांव में पंचायत चुनाव के दौरान दो पक्षों में खूनी झड़प हो गया था. मतदान के दूसरे दिन 16 अप्रैल को दोनों पक्ष आपस में भीड़ गए इस दौरान कई गोलियां भी चली. इसी दौरान एक 12 वर्षीय लड़का गोली के चपेट में आ गया. एक छर्रा बच्चे के माथे के दाएं हिस्से में लग गया. बच्चे के परिवारवालों ने इलाज के बाद थाने जाकर पुलिस को केस दर्ज करने की तहरीर दी. जिनके बाद मामला और विवादित हो गया. पुलिस ने एक पक्ष का केस दर्ज कर लिया जिसके बाद दूसरा पक्ष कोर्ट चला गया. जिसके बाद कोर्ट ने घायलों का मेडिकल जांच करा के मुकदमा दर्ज करने का आदेश दिया.

गोरखपुर पुलिस की खाकी फिर दागदार, सिपाही ने 14 साल की बच्ची से रेप किया

मेडिकल जांच और रिपोर्ट की प्रक्रिया पूरी होने में 6 महीने का समय लग गया. घायल बच्चे के के चाचा ने अविनाश पांडेय का कहना है कि पुलिस ने दूसरी पक्ष का मुकदमा दर्ज नहीं किया जिसकी वजह से कोर्ट जाने पड़ा. इस मामले में सीएमओ को को कोर्ट का आदेश दे दिया गया है. जिसके बाद सीएमओ ने मेडिकल बोर्ड का गठन कर दिया है. बोर्ड ने अपने रिपोर्ट में बताता है कि बच्चे के सिर के दाहिने हिस्से में छर्रा दिख रहा है. मेडिकल बोर्ड के टीम में शामिल डॉक्टरों ने बताया कि जहां छर्रा लगने वाली जगह पर घाव भर चुकी है इसलिए फिलहाल कोई दिक्कत नहीं है. लेकिन भविष्य को ध्यान में रखते हुए डॉक्टरों ने ऑपरेशन का छर्रा निकालने की सलाह दी है. ये ऑपरेशन लखनऊ स्थित KGMU में होगा. सीएमओ डॉक्टर सुधाकर पांडेय ने बताता की इस मामले लर कोर्ट का आदेश मिलने के बाद मेडिकल बोर्ड की गठन कर दिया गया है. हालांकि अभी ऑपरेशन के फैसला होना बाकी है

 

अन्य खबरें