आरोग्य मंदिर में सर्वांग मिट्टी लेपन से हुआ मरीजों का फ्री इलाज, 135 लोगों ने लिया भाग

Swati Gautam, Last updated: Thu, 18th Nov 2021, 2:53 PM IST
  • गुरुवार को प्राकृतिक चिकित्सा दिवस के अवसर पर आरोग्य मंदिर में सर्वांग मिट्टी लेपन कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमें 135 मरीजों ने सर्वांग (यानी पूरे शरीर पर) मिट्टी लेपन कर फ्री इलाज कराया. इस कार्यक्रम में 80 पुरुष, 45 महिलाएं और 10 बच्चों ने भाग लिया.
आरोग्य मंदिर में सर्वांग मिट्टी लेपन से हुआ मरीजों का फ्री इलाज, 135 लोगों ने लिया भाग. file photo

गोरखपुर. गुरुवार को प्राकृतिक चिकित्सा दिवस के अवसर पर आरोग्य मंदिर में सर्वांग मिट्टी लेपन कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमें 135 मरीजों ने सर्वांग (यानी पूरे शरीर पर) मिट्टी लेपन कर इलाज कराया. इस कार्यक्रम में 80 पुरुष, 45 महिलाएं और 10 बच्चों ने भाग लिया. आरोग्य मंदिर के निदेशक डॉ. विमल कुमार मोदी ने बताया कि आरोग्य मंदिर में 12 नवंबर से ही सर्वांग मिट्टी लेपन कर मरीजों का इलाज किया जा रहा है. 12 नवंबर से अब तक 501 लोगों का सर्वांग मिट्टी लेपन कर इलाज किया जा चुका है. उन्होंने आगे कहा कि सर्वांग मिट्टी लेपन कई शारीरिक समस्याओं का अचूक उपचार है. मिट्टी लेपन में अनेक रोगों के निवारण की अद्भुत क्षमता है.

आरोग्य मंदिर के सह निदेशक डॉ. राहुल मोदी कहते हैं कि आरोग्य मंदिर पिछले 81 वर्षों से पूरी दुनिया को संदेश देता आ रहा है कि प्रकृति में सभी रोगों का इलाज संभव है. वहीं, विमल मोदी बताते हैं कि सर्वांग मिट्टी लेपन से त्वचा के अनेक रोग जैसे चर्म रोग, दाद-खाज, खुजली, फोड़े फुंसियां दूर हो जाते हैं. मिट्टी लेपन लगाकर स्नान करना एक अच्छा उबटन मना जाता है. इसके अलावा सर्वांग मिट्टी लेपन उच्च रक्तचाप, नस नाड़ियों की कमजोरी, अनिद्रा, जोड़ों का दर्द समेत अन्य कई रोगों में लाभकारी सिद्ध होता है.

पहली पत्नी से छिपाकर की दूसरी शादी, राज खुला तो दूसरी बीवी की हत्याकर भागा

सर्वांग मिट्टी लेपन के फायदे

कहा जाता है कि हमारे शरीर का निर्माण पृथ्वी, जल, अग्नि, वायु और आकाश जैसे पंच तत्वों से हुआ है. इनमें से पृथ्वी तत्व काफी महत्वपूर्ण है. इसलिए इंसान के शारीरिक एवं मानसिक विकारों को प्राकृतिक चिकित्सा में मिट्टी से भी दूर किया जाता है. कहा जाता है कि सर्वांग मिट्टी के लेपन से शरीर के दूषित पदार्थ रोमछिद्रों से मिट्टी में मिल जाते हैं. इसका उपयोग चर्म रोगों एवं स्नायु विकारों में अधिक करते हैं. इससे सिरदर्द, उच्च रक्तचाप, पेट के रोग, हृदय रोग, अनिद्रा, तनाव जन्म विकारों, तथा अन्य रोगों का उपचार भी सफलतापूर्वक किया जा रहा है. मिट्टी का लेप न केवल शरीर को बाहर से सुंदर और स्वस्थ बनाता है बल्कि मन की गंदगी को भी दूर कर उसे स्वस्थ और सुंदर बनाने में अपना योगदान देता है.

अन्य खबरें