गोरखनाथ मंदिर में खिचड़ी मेले की तैयारी जारी, कोविड प्रोटोकाल के साथ श्रद्धालु करेंगे दर्शन

Sumit Rajak, Last updated: Mon, 10th Jan 2022, 2:13 PM IST
  • गोरखपुर के ऐतिहासिक खिचड़ी मेले को लेकर गोरखनाथ मंदिर सजाया जा रहा है.मकर संक्रांति पर बाबा गोरखनाथ में श्रद्धालु खिचड़ी चढ़ाने के लिए पहुंच सके. इसके लिए जिला प्रशासन के साथ गोरखनाथ मंदिर प्रबंधन ने मिलकर तैयारी शुरू कर दी है. इसके लिए मुख्य मंदिर परिसर में बेरीकेडिंग का काम चालू कर दी है.
फाइल फोटो

गोरखपुर. गोरखपुर के ऐतिहासिक खिचड़ी मेले को लेकर गोरखनाथ मंदिर सजाया जा रहा है. मकर संक्रांति पर बाबा गोरखनाथ में श्रद्धालु खिचड़ी चढ़ाने के लिए पहुंच सके. इसके लिए जिला प्रशासन के साथ गोरखनाथ मंदिर प्रबंधन ने मिलकर तैयारी शुरू कर दी है. इसके लिए मुख्य मंदिर परिसर में बेरीकेडिंग का चालू कर दी है. कोरोना के संक्रमण के मद्देनजर प्रबंधन और प्रशासन का कोविड प्रोटोकाल को  शक्ति से पालन  की जा रही है. इसके साथ ही खिचड़ी भोग लगाने वाले श्रद्धालु को थर्मल स्कैन के गुजरने के बाद ही मंदिर में प्रवेश मिलेगा. मास्क और सैनिटाइजर की अनिवार्यता रहेगी.

मंदिर परिसर में पांच स्थानों पर कोविड हेल्प डेस्क बनाया जा रहा है. जिसमें से चार हेल्प डेस्क मंदिर के प्रवेश द्वारा पर होंगे.वही एक हेल्प डेस्क पूर्वी और एक हेल्प डेस्क उत्तरी प्रवेश द्वार पर होंगे. साथ हील मंदिर परिसर के अंदर मुख्य मंदिर गेट पर महिलाओं और पुरुषों के लिए अलग-अलग हेल्प डेस्क बनाये जाएगें. सभी डेस्क पर श्रद्धालुओं के लिए मास्क की दी जाएगी.

Covid Omicron: कोरोना के लेकर योगी सरकार सख्त, नाइट कर्फ्यू के समय में दो घंटे की बढ़ोत्तरी

श्रद्धालुओं को मुख्य मंदिर के मुख्य प्रवेश द्वार से ही खिचड़ी चढ़ाने के लिए दिया जाएगा.  दक्षिण द्वार से ही मेला परिसर में जाने के लिए दी जाएगी. उत्तरी यानी यज्ञशाला गेट परिसर में श्रद्धालुओं राजेंद्र नगर-बरगदवां की ओर जा सकेंगे. इसके लिए जिला प्रशासन के कर्मचारी और पुलिस कर्मी तैनात रहेंगे. प्रत्येक जगह पर मंदिर से जुड़े शिक्षण संंस्थानों के कर्मचारी, शिक्षक और विद्यार्थियों को प्रबंधन की ओर से तैनात किया जा रहा है.

मंदिर परिसर में कुल 55 कैमरे लगाए जाएगें, फिलहाल 36 कैमरे लगाए जा चुके हैं. जबकि 19 और कैमरों को लगाने के लिए मंदिर प्रबंधन की तरफ से प्रशासन को भेजा जा गया है. इन कैमरों से मुख्य मंदिर से लेकर मेला परिसर तक निगरानी की जाएगी. परिसर मेंं लगा खिचड़ी मेला पूरी तरह सज चुकी है. वही दुकानें भी सज चुकी हैं. मेले की अनौपचारिक शुरू हो चुकी है.  एस मेला की शुरुआत मकर संक्रांति यानी 15 जनवरी से होगी.

 

अन्य खबरें