गोरखपुर: स्वास्थ्य विभाग का अजीब कारनामा, मर चुके शख्स को लगा दिए कोरोना के दोनों टीके

Shubham Bajpai, Last updated: Thu, 25th Nov 2021, 7:13 PM IST
  • गोरखपुर में स्वास्थ्य विभाग की बड़ी लापरवाही सामने आई है. विभाग ने चार महीने पहले मर चुके व्यक्ति को कोरोना की दोनों वैक्सीन लगा दी. जिसका मैसेज पहुंचते ही परिवार के लोगों ने स्वास्थ्य विभाग में शिकायत की. जिस पर विभाग के अधिकारियों ने जांच कराने की बात कही है.
गोरखपुर स्वास्थ्य विभाग का कारनामा, हत्या हो चुके शख्स को लगा दिए कोरोना के दोनो टीके

गोरखपुर. शहर में स्वास्थ्य विभाग ने ऐसे व्यक्ति को कोरोना की दोनों वैक्सीन लगा दी. जिसकी 4 महीने पहले मौत हो चुकी. स्वास्थ्य विभाग के इस कारनामे की जानकारी तब हुई जब मृतक के परिजनों ने इस घटना की जानकारी विभाग को दी. जिसके बाद विभाग में हड़कंप मच गया और विभाग अब इस मामले में जांच की बात कहकर अपनी जिम्मेदारी के नाम पर खानापूर्ति कर रहा है.

दूसरे डोज लगने से पहली ही हो गई मौत

मृतक बृजेश विश्वकर्मा के भांजे वेदांत के मोबाइल पर 20 नवंबर को मैसेज आया कि बृजेश को कोरोना की दूसरी डोज लग गई है. जिसके बाद वेदांत ने इसका जानकारी स्वास्थ्य विभाग में दी. वेदांत के अनुसार, उसने 18 मई को कोरोना वैक्सीन के लिए मामा का रजिस्ट्रेशन करवाया था, लेकिन दूसरी डोज से पहले ही उनकी मौत हो गई.

गोरखपुर में छात्र की पीट-पीटकर हत्या, सपा बोली- CM के शहर में कानून व्यवस्था फेल

इंटरनेट से फुल वैक्सिनेटेड का डाउनलोड हुआ सर्टिफिकेट

वेदांत ने बताया कि मैसेज के बाद जब इंटरनेट में चेक किया तो मामा बृजेश विश्वकर्मा का फुल वैक्सिनेटेड का मैसेज आया. सर्टिफिकेट में दूसरी वैक्सीन का स्थल भटहट क्षेत्र के जंगल डुमरी नंबर दो बता रहा है. जिसकी जानकारी स्वास्थ्य विभाग को दी, लेकिन अभी तक विभाग ने कोई जवाब नहीं दिया.

UP चुनाव से पहले SP सरंक्षक मुलायम सिंह से मिले राजा भैया, कहा- राजनीतिक मुलाकात नहीं

पोर्टल की गड़बड़ी की वजह से जा रहे गलत संदेश

मामले के संबंध में सीएमओ डॉ. सुधाकर पांडेय ने बताया कि मामला संज्ञान में आया है .मामले की जांच करवाई जा रही है. हालांकि कर् बार पोर्टल में गड़बड़ी की वजह से गलत नंबर पर मैसेज चले जा रहे हैं.

अन्य खबरें