रेल मंडल समिति की बैठक में गोरखपुर से दिल्ली के बीच राजधानी एक्सप्रेस चलाने की मांग

Anurag Gupta1, Last updated: Tue, 5th Oct 2021, 3:02 PM IST
रेल उपयोगकर्ता परामर्शदात्री समिति की बैठक में गोरखपुर से दिल्ली तक राजधानी एक्सप्रेस चलाने की पेशकश रखी गई. पूर्वोत्तर रेलवे क्षेत्र में सड़क व रेलवे लाइन पार करने के लिए सात नए पुल बनाने की भी बात की गई. रेलवे के टीटीई रेस्ट हाउस को मरम्मत कराने की बात हुई.
राजधानी एक्सप्रेस (फाइल फोटो)

लखनऊ. पूर्वोत्तर रेलवे लखनऊ मण्डल में रेल उपयोगकर्ता परामर्शदात्री समिति की बैठक हुई. बैठक में उपयोगकर्ता परामर्शदात्री समिति के सदस्य पवन दुबे ने पूर्वोत्तर रेलवे से संबंधित मुद्दों को प्रमुखता से उठाया. उन्होंने राजधानी एक्सप्रेस को गोरखपुर से दिल्ली तक चलाने की पेशकश रखी. साथ ही पूर्वोत्तर रेलवे से जुड़े अन्य मुद्दो पर भी चर्चा हुई. डीआरएम मोनिका अग्निहोत्री ने उपयोगकर्ता परामर्शदात्री समिति की बैठक की अध्यक्षता की.

उपयोगकर्ता परामर्शदात्री समिति की बैठक में पवन दुबे ने पूर्वोत्तर रेलवे क्षेत्र में सड़क व रेलवे लाइन पार करने के लिए सात नए पुल बनाने की पेशकश रखी. साथ ही दस नई ट्रेनें चलाने की बात कही. लंबी दूरी की ट्रेनों में पैंट्रीकार की सुविधा देने की बात कही. रेलवे क्रासिंग आए दिन घटना का सबक बनती है जिसके चलते कासिंग व समपार फाटक खोलने के साथ स्टेशनों पर कोच डिस्प्ले को दुरूस्त करने की मांग की. लखनऊ स्टेशन के पास स्थित टीटीई रेस्ट हाउस की हालत चिंताजनक है उसे तत्काल मरम्मत की जरूरत है. यदि समय से मरम्मत नहीं की गई तो कोई घटना घट सकती है.

भू माफिया ने मृत बताकर हड़प ली जमीन, अब जांच रिपोर्ट एसडीएम कार्यालय में तोड़ रही दम

क्यों खास है राजधानी एक्सप्रेस:

राजधानी ट्रेन का किराया अन्य ट्रेनों से ज्यादा होता है तब भी लोग इसमें सफर करना पसंद करते हैं. इसकी मुख्य वजह इसकी टाइमिंग है. किसी विपरीत परिस्थितियों में ट्रेन लेट होती है अन्यथा अन्य ट्रेनों के मुकाबले ये ट्रेन लेट नहीं होती है. इस ट्रेन की खासियत है कि ये प्रमुख स्टेशन पर ही रूकती है छोटे-छोटे स्टेशनों पर नहीं रूकती है. सबसे बड़ा स्टेशन होने के बावजूद गोरखपुर से राजधानी ट्रेन नहीं चलती है इसकी वजह से लोगों को अन्य ट्रेन से सफर करना पड़ता है. पवन दुबे के प्रस्ताव से गोरखपुर से दिल्ली सफर करने वाले लोगों को काफी सहुलियत मिलेगी. इसके अलावा गोरखपुर-दिल्ली के बीच रहने वाले लोगों को भी लाभ मिलेगा.

 

अन्य खबरें