रेल यात्री ध्यान दें! दशहरा, दिवाली से पहले पूर्वोत्तर रेलवे इन रुटों पर बढ़ाएगा ट्रेनों की संख्या, फुल लिस्ट

Smart News Team, Last updated: Mon, 27th Sep 2021, 6:00 AM IST
  • पूर्वोत्तर रेलवे ने दशहरा, दिवाली से पहले लोगों को बड़ी राहत दी है. पूर्वोत्तर रेलवे लंबे समय बाद एक बार फिर से लोकल रुट्स की पैसेंजर ट्रेनों की वापसी कराने जा रहा है. रेलवे बोर्ड ने लोगों की मांग को देखते हुए 7 पैसेंजर ट्रेन्स को चलाने का फैसला किया है. जिसमें गोरखपुर से नरकटियागंज और अयोध्या रुट पर ट्रेन वापस ट्रैक पर आएगी.
पूर्वोत्तर रेलवे त्योहारों से पहले लोकल रुट्स पर पैसेंजर ट्रेनों की संख्या बढ़ाएगा.

गोरखपुर. त्योहारों से पहले भारतीय रेलवे ने पूर्वोत्तर को बड़ी सौगात दी है. पूर्वोत्तर रेलवे बोर्ड ने दशहरा, दिवाली से पहले 7 पैसेंजर ट्रेनों की शुरुआत करने का फैसला किया है. लंबे समय से यात्री लोकल रुटों पर ट्रेनें चलाने की मांग कर रहे थे जिसे अब रेलवे ने मंजूरी दे दी है. इसी साल दिवाली से पहले कई ट्रेनें शुरू कर दी जाएंगी. फिलहाल 7 ट्रेनों को मंजूरी मिली है जिसमें बलिया-शाहगंज, वाराणसी-प्रयागराज, डालीगंज-सीतापुर और इज्जतनगर मंडल मं चलने वाली टनकपुर-पीलीभीत-टनकपुर, बरेली सिटी-पीलीभीत-बरेली सिटी, बरेली सिटी-टनकपुर-इज्जतनगर हैं.

यात्रियों की बढ़ती संख्या को देखते हुए गोरखपुर-नरकटियागंज रूट पर भी पैसेंजर ट्रेन को फिर से चलाने का प्रस्ताव रेलवे बोर्ड को भेज जाएगा. गोरखपुर-अयोध्या पैसेंजर के लिए प्रस्ताव पहले से तैयार है. अनुमान लगाया जा रहा है कि अगर कोरोना महामारी के तीसरे लहर का आगमन नहीं हुआ तो दीपावली के पहले-पहले इन दोनों पैसेंजर ट्रेनों को चलाया जा सकता है.

फिलहाल गोरखपुर से लोकल यात्रियों के लिए गोरखपुर-सीतापुर पैसेंजर ट्रेन समेत कुल 9 पैसेंजर ट्रेनें चल रही हैं. लेकिन इन ट्रेनों में यात्रियों की संख्या बहुत कम है. इनकी संख्या में आयी कमी का कारण एक्सप्रेस ट्रेन के बराबर लिए जा रहे किराए और सफर में समय का ज्यादा लगना माना जा रहा है. और तो और सवारी के लिए पैसेंजर ट्रेनों में सुविधा नाम मात्र दी जा रहा है. ऐसे में यात्रियों की संख्या घटना जायज है. 

गोरखपुर में दुर्गा पंडाल लगाने के लिए देना होगा शपथ पत्र, प्रशासन ने दिए ये निर्देश

स्पेशल तौर पर सभी एक्सप्रेस ट्रेनों के संचालन के बाद रेलवे प्रशासन धीरे-धीरे करके पैसेंजर ट्रेनों को चलाने की फिराक में है. इसके लिए लंबे समय से यार्डों में खड़े कोचों की मरम्मत तेजी से शुरू हो गई है. जैसे-जैसे ट्रेनों की मांग बढ़ रही है वैसे-वैसे रेलवे बोर्ड को प्रस्ताव भेजे जा रहे हैं. बोर्ड की तरफ से मंजूरी मिलने के बाद पैसेंजर ट्रेनों को एक बार फिर यात्रियों के लिए खोल दिया जाएगा.जानकारी के लिए बता दें कि हाल फिलहाल गोरखपुर सहित पूर्वोत्तर रेलवे के अंतर्गत आने वाले विभिन्न स्टेशनों से कुल 64 जोड़ी पैसेंजर ट्रेनें लोकल सवारियों के लिए चल रही हैं. 

होटल में नौकरी के पहले ही दिन स्टाफ वेटरों ने की चाकू गोदकर हत्या, पांच अरेस्ट

रेलवे एक्सप्रेस गाड़ियों की तरह लोकल यात्रियों की सुविधा के लिए सवारी गाड़ियों यानी पैसेंजर ट्रेनों की संख्या बढ़ा रही है. कोरोना महामारी के चलते लंबे समय से बंद पड़े इन ट्रेनों की मांग को देखते हुए लोकल रूटों पर एक बार फिर लोगों के लिए सभी पैसेंजर ट्रेनों का संचालन शुरू हो जाएगा. यह फैसला दशहरा, दीपावली और छठ पर्व के नजदीक आने से लिया जा रहा है.  

अन्य खबरें