मनीष गुप्ता हत्याकांड: गोरखपुर में प्रॉपर्टी डीलर की मौत के आरोपी इंस्पेक्टर, दारोगा अरेस्ट

Ankul Kaushik, Last updated: Sun, 10th Oct 2021, 7:28 PM IST
  • गोरखपुर के होटल में कानपुर के प्रॉपर्टी डीलर मनीष गुप्ता की हुई मौत मामले में पुलिस ने फरार आरोपी इंस्पेक्टर जगत नारायण सिंह और दारोगा अक्षय मिश्रा को गिरफ्तार कर लिया है. इस केस को लेकर गोरखपुर पुलिस की आठ टीमें आरोपित छह पुलिसवालों की तलाश में लगी थीं.
मनीष गुप्ता हत्याकांड के आरोपी दो पुलिसवाले गिरफ्तार

गोरखपुर. कानपुर के व्यापारी मनीष गुप्ता के हत्याकांड में गोरखपुर पुलिस ने दो आरोपित पुलिस वाले जेएन सिंह और अक्षय मिश्रा को गिरफ्तार कर लिया है. इन दोनों आरापियों की गिरफ्तारी की जानकारी एसआईटी को दी गई है और एसआईटी उनसे पूछताछ कर रही. इसके साथ ही बाकी फरार आरोपियों की भी तलाश जारी है. बताया जा रहा है मनीष मर्डर केस में फरार चल रहे आरोपी इंस्पेक्टर जगत नारायन सिंह (जेएन सिंह) चौकी इंचार्ज अक्षय मिश्रा कोर्ट में सरेंडर करने के लिए गोरखपुर आए थे. इसी बीच गोरखपुर पुलिस ने इन दोनों को रविवार की शाम रामगढ़ताल क्षेत्र से गिरफ्तार कर लिया. वहीं इससे पहले इस केस के एक आरोपित विजय यादव ने हाईकोर्ट में सरेंडर की अर्जी डाली है. यूपी पुलिस ने इस आरोपियों के खिलाफ एक-एक लाख रुपये का इनाम घोषित किया था.

मनीष गुप्ता की मौत के मामले में फरार पुलिसकर्मियों की जानकारी के लिए डीसीपी ने 25,000 रुपये के इनाम की घोषणा की थी. इसके बाद इनाम की राशि 24 घंटे के भीतर ही बढ़ाकर यूपी पुलिस ने एक एक लाख कर दी थी. इसके साथ ही फरार पुलिस कर्मियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की छह टीमें लगी थीं. इन आरोपियों की फोटो सोशल मीडिया पर डालते हुए डीसीपी ने कहा था कि इन आरोपितों के बारे में सूचना देने वाले की पहचान गोपनीय रखी जाएगी. इसके साथ ही जानकारी देने वाले को सुरक्षा भी दी जाएगी.

मनीष गुप्ता मर्डर की SIT जांच कानपुर ट्रांसफर हुई है, केस गोरखपुर में ही चलेगा

बता दें कि कानपुर के व्यापारी मनीष गुप्ता गोरखपुर में अपने दोस्तों के साथ घूमने आए थे. इस दौरान वह रात में गोरखपुर स्थित होटल कृष्णा पैलेस में आधी रात रुके थे. यहां पर देर रात पूछताछ के बहाने आए पुलिस वालों ने उनसे मारपीट की और इस मारपीट में उनकी मौत हो गई. वहीं पुलिस वालों का कहना था कि उनकी मौत नीच गिरने से हुई थी. इस पूरे मामले की जांच एसआईटी की टीम कर रही है.

अन्य खबरें