मनीष गुप्ता हत्याकांड : आरोपी पुलिसकर्मियों की गिरफ्तारी के लिए 6 जिलों में छापा

Indrajeet kumar, Last updated: Thu, 7th Oct 2021, 4:36 PM IST
  • कानपुर के प्रॉपर्टी डीलर मनीष गुप्ता हत्याकांड मामले में आरोपित पुलिसकर्मियों की तलाश में प्रदेश के छह जिलों में छापेमारी की गई. SIT की टीम ने छह जिलों के 17 जगहों पर ये छापेमारी की.
मनीष गुप्ता और उनका पत्नी मीनाक्षी गुप्ता (फाइल फोटो)

कानपुर. प्रोपर्टी डीलर मनीष गुप्ता हत्याकांड मामले में आरोपित पुलिसकर्मियों की तलाश में प्रदेश के छह जिलों में ताबड़तोड़ छापेमारी की गई. हालांकि अब तक एक भी आरोपित पुलिसकर्मी की गिरफ्तारी नहीं हो पाई है. गिरफ्तारी के लिए अलग-अलग टीम बनाया गया है. गिरफ्तारी के लिए बनाई गई इन टीमों ने गोरखपुर, लखनऊ, मऊ, गाजीपुर, बलिया और अमेठी में 17 जगहों पर छापेमारी की.

हत्याकांड मामले को तूल पकड़ने के बाद गोरखपुर एसएसपी के आदेश के बाद रामगढ़ताल थाना के तत्कालीन उपनिरीक्षक अक्षय कुमार मिश्र और विजय कुमार यादव के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है. साथ ही तीन अज्ञात पुलिसकर्मियों के खिलाफ भी केस दर्ज कर लिया गया है. मनीष की पत्नी मीनाक्षी ने ट्वीटर पर वीडियो अपलोड कर तहरीर बदलवाने का आरोप लगाया था. इस वीडियो में उन तीन नामों के अलावा मुख्य आरक्षी कमलेश दुबे, आरक्षी प्रशांत कुमार और उपनिरीक्षक राहुल दूबे को भी आरोपित बनाया है. जिसके बाद इन तीनों अधिकारियों पर भी मुकदमा दर्ज कर लिया गया है. इन अधिकारियों पर मुकदमा दर्ज होने के बाद कुल छह पुलिसकर्मी आरोपी हो गए हैं.

कानपुर कारोबारी की पत्नी मीनाक्षी को SIT ने बताया- मनीष गुप्ता की हत्या हुई थी

इधर मनीष की पत्नी मीनाक्षी ने मंगलवार को आरोपित पुलिकर्मियों की गिरफ्तारी ना होने के कारण अपने और अपने परिवार को जान से खतरा बताया था. इसके बाद बुधवार को विशेष जांच दल (SIT) ने आरोपित पुलिसकर्मियों की तलाश के लिए छह टीमें बनाई गई. जिसके बाद ये टीमें प्रदेश के अलग-अलग जिले गोरखपुर, लखनऊ, बलिया, मऊ, गाजीपुर और अमेठी के 17 जगहों पर छापेमारी की. पुलिस को इन जगहों पर आरोपितों की छिपे होने की अंदेशा थी. सभी आरोपित पुलिसकर्मियों की घरों के अलावा उनके रिश्तेदारों के घरों पर भी तलाशी की गई. लेकिन किसी भी आरोपितों की गिरफ्तारी नहीं हो पाई.

 

अन्य खबरें