UP Election 2022: मायावती के निर्देश पर BSP के विनय शंकर तिवारी सहित तीन निष्कासित

Anurag Gupta1, Last updated: Tue, 7th Dec 2021, 8:19 AM IST
  • बसपा सुप्रीमो मायावती के निर्देश पर चुल्लू पार विधानसभा के विधायक विनय शंकर तिवारी सहित तीन को पार्टी से निष्कासित किया गया. विनय शंकर तिवारी पर अनुशासनहीनता का आरोप है. निष्कासन के बाद विनय शंकर तिवारी का सपा में शामिल होने के कयास लगाए जा रहे हैं.
बसपा विधायक विनय शंकर तिवारी (फाइल फोटो)

गोरखपुर. चुनावी दौर शुरू हो चुका है 2022 में यूपी सहित कई और जिलों में जनता विधायकों के भाग्य का फैसला करेगी. किसके सिर पर ताज सजेगा किसके नहीं इसका फैसला 2022 में हो जाएगा. ऐसे में राजनैतिक पार्टियों को अपनी छवि सुधारना जरूरी हो जाता है. बसपा सुप्रीमो मायावती के निर्देश पर चिल्लू पार विधानसभा क्षेत्र के विधायक विनय शंकर तिवारी और उनके बड़े भाई समेत तीन को अनुशासनहीनता के चलते पार्टी से निष्कासित कर दिया गया है. इसकी जानकारी गोरखपुर मंडल के मुख्य सेक्टर प्रभारी सुधीर भारती व्दारा दी गई है.

बता दें विनय शंकर तिवारी के पार्टी से निष्कासन के बाद विधायक समेत उनके बड़े भाई कुशल तिवारी और गणेश शंकर पांडे के सपा में शामिल होने की चर्चाएं तेज हो गई है. इसके पहले भी बसपा के कई विधायक व पदाधिकारी सपा में शामिल हो चुके हैं. अब अगर विनय शंकर तिवारी भी सपा में शामिल होते है तो सपा को और मजबूती मिलने की उम्मीद है.

योगी सरकार में स्कूल ड्रेस के नाम पर शिक्षा विभाग ने छात्रों के खाते में भेजे 11 रुपये

देर रात जारी हुआ निर्देश:

सुधीर कुमार भारती ने सोमवार की देर रात विज्ञप्ति जारी कर यह जानकारी दी. इसमें कहा गया कि गोरखपुर जिले की चिल्लूपार विधानसभा सीट के विधायक विनय शंकर तिवारी व इनके बड़े भाई पूर्व सांसद कुशल तिवारी और उसके साथी गणेश पांडे को अनुशासनहीनता के चलते पार्टी से निकाला जा रहा है. विनय शंकर तिवारी को पार्टी के पदाधिकारियों से सही व्यवहार न रखने के कारण बहुजन समाज पार्टी से निष्कासित किया गया है. विनय कुमार और उनके भाई की कुछ दिन पहले सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव से मिलने की खबर आई थी. इसके बाद से ही सपा में जाने की चर्चाएं तेज हो गई थी. अब निष्कासन के बाद दोनों के सपा में शामिल होने के कयास लगाए जा रहे हैं.

इसके पहले छोड़कर जा चुके है लोग:

2017 चुनाव में बसपा के 19 विधायक जीतकर आए थे. विनय शंकर तिवारी के पार्टी से निकाले जाने के बाद बसपा में अब तीन विधायक बचे हैं. सके पहले मुबारकपुर आजमगढ़ के विधायक शाह आलम उर्फ गुड्डु जमाली ने पत्र लिखकर इस्तीफा दिया था.

अन्य खबरें