इंदौर में एक दिन में 478 कोरोना संक्रमित मिलने से मचा हड़कंप

Smart News Team, Last updated: Sun, 27th Sep 2020, 7:54 PM IST
  • इंदौर. अब तक कुल 290596 सैम्पल की जांच हुई. मरीजों की तादाद बढ़कर 22607 हुई. 90 साल की बुजुर्ग महिला ने भी कोरोना को मात दी. अब तक 17 हज़ार 932 लोग इलाज के बाद कोरोना वायरस संक्रमण से मुक्त हुए.
प्रतीकात्मक तस्वीर

इंदौर। स्वास्थ विभाग की लाख कोशिशों के बावजूद भी कोरोना महामारी का आतंक लगातार बढ़ता ही जा रहा है. कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित जिलों में इंदौर का भी नाम शामिल हो गया है. यहां संक्रमण की रफ्तार लगातार तेज हो रही है. बीते 24 घंटों के दौरान जिले में 21.96 प्रतिशत की दर से 478 नए संक्रमित मिले हैं. अप्रैल के बाद अब सबसे तेज़ गति से संक्रमण के मामले सामने आ रहे है. हालांकि इंदौर में मार्च से अब तक कुल संक्रमण की दर 7.59 प्रतिशत है.राहत की बात यह है कि इस माह का मरीजों का रिकवरी रेट (ठीक होने वाले) बढ़कर 92.59 प्रतिशत हो गया है.जिले में कोविड-19 के प्रकोप की शुरुआत 24 मार्च से हुई. जब पहले चार मरीजों में इस महामारी की पुष्टि हुई थी.

आपको बतादें के इस महामारी के पिछले छह महीने से जारी प्रकोप के दौरान एक ही दिन में मिले संक्रमितों की सर्वाधिक तादाद है. जानकारी के अनुसार 478 मरीज मिलने के साथ ही जिले में कोविड-19 के मरीजों की कुल तादाद बढ़कर 22,607 हो गई है. अब तक कुल 2, 90, 596 सैम्पल की जांच की जा चुकी है.

वहीं कोरोना से मरने वाले मरीजों की संख्या 545 पर पहुंच गई है.सितंबर के 26 दिनों में 147 संक्रमित मरीज जान गंवा चुके हैं. मरीजों की मृत्यु दर 1.56 फीसद के स्तर पर है.अब तक 17 हज़ार 932 लोग इलाज के बाद कोरोना वायरस संक्रमण से मुक्त हो गए हैं.इस हिसाब से रिकवरी रेट 79.32 प्रतिशत हो चुका है.हालांकि यह राष्ट्रीय औसत से कम है. जिले में कोरोना वायरस संक्रमण के उपचाररत मरीजों की संख्या बढ़कर 4,130 है. इनमें होम आइसोलेशन में इलाज करवा रहे मरीज भी शामिल हैं।स्वास्थ विभाग की लाख कोशिशों के बावजूद भी कोरोना महामारी का आतंक लगातार बढ़ता ही जा रहा है. कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित जिलों में इंदौर का भी नाम शामिल हो गया है. 

नौकरी के नाम पर विदेशी युवतियों को देह व्यापार में धकेलने वाला गिरोह का पर्दाफाश

यहां संक्रमण की रफ्तार लगातार तेज हो रही है. बीते 24 घंटों के दौरान जिले में 21.96 प्रतिशत की दर से 478 नए संक्रमित मिले हैं. अप्रैल के बाद अब सबसे तेज़ गति से संक्रमण के मामले सामने आ रहे है. हालांकि इंदौर में मार्च से अब तक कुल संक्रमण की दर 7.59 प्रतिशत है.राहत की बात यह है कि इस माह का मरीजों का रिकवरी रेट (ठीक होने वाले) बढ़कर 92.59 प्रतिशत हो गया है.जिले में कोविड-19 के प्रकोप की शुरुआत 24 मार्च से हुई. जब पहले चार मरीजों में इस महामारी की पुष्टि हुई थी.

आपको बतादें के इस महामारी के पिछले छह महीने से जारी प्रकोप के दौरान एक ही दिन में मिले संक्रमितों की सर्वाधिक तादाद है. जानकारी के अनुसार 478 मरीज मिलने के साथ ही जिले में कोविड-19 के मरीजों की कुल तादाद बढ़कर 22,607 हो गई है. अब तक कुल 2, 90, 596 सैम्पल की जांच की जा चुकी है.

इंदौर: नगर निगम ने बकाया राशि नहीं भरने पर दो दुकानें सील

वहीं कोरोना से मरने वाले मरीजों की संख्या 545 पर पहुंच गई है.सितंबर के 26 दिनों में 147 संक्रमित मरीज जान गंवा चुके हैं. मरीजों की मृत्यु दर 1.56 फीसद के स्तर पर है.अब तक 17 हज़ार 932 लोग इलाज के बाद कोरोना वायरस संक्रमण से मुक्त हो गए हैं.इस हिसाब से रिकवरी रेट 79.32 प्रतिशत हो चुका है.हालांकि यह राष्ट्रीय औसत से कम है. जिले में कोरोना वायरस संक्रमण के उपचाररत मरीजों की संख्या बढ़कर 4,130 है. इनमें होम आइसोलेशन में इलाज करवा रहे मरीज भी शामिल हैं।

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें