भारत बंद : इंदौर में भारतीय किसान लोक शक्ति संगठन ने नारेबाजी कर जताया विरोध

Smart News Team, Last updated: 08/12/2020 05:37 PM IST
  • इंदौर में संगठन के अध्यक्ष दिनेश सिंह भदौरिया ने बताया कि केंद्र सरकार जो बिल लाई है, वह किसान विरोधी है. किसान न्यूनतम मूल्य पर आश्वस्त नहीं हैं. किसान किसी सरकार का विरोध नहीं करता, वह तो बस अपने वास्तविक अधिकार के लिए लड़ता है.
भारत बंद के दौरान नारेबाजी करते भारतीय किसान लोक शक्ति संगठन के कार्यकर्ता

इंदौर. किसान आंदोलन के तहत भारत बंद के दौरान मंगलवार को भारतीय किसान लोक शक्ति संगठन ने नारेबाजी कर केंद्र सरकार के कृषि कानूनों का विरोध में नारेबाजी कर बंद में अपना योगदान दिया. संगठन के अध्यक्ष दिनेश सिंह भदौरिया ने बताया कि केंद्र सरकार जो बिल लाई है, वह किसान विरोधी है. किसान न्यूनतम मूल्य पर आश्वस्त नहीं हैं. किसान किसी सरकार का विरोध नहीं करता, वह तो बस अपने वास्तविक अधिकार के लिए लड़ता है. 

इस बिल के तहत आने वाले समय में जमकर कालाबाजारी होगी और जरूरतमंद लोगों को अनाज नहीं मिल पाएगा. इसलिए हर स्तर पर किसान अपनी लड़ाई लड़ेगा और मोदी जी को यह बिल वापस लेना ही पड़ेगा. पीएम को अपना अहंकार छोड़कर किसानों की बात माननी चाहिए. बिल पास करने से पहले उनसे राय लेना जरूरी था, जिस कारण से किसान अब उनका विरोध कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा किसानों का  जिस प्रकार शोषण किया जा रहा है, उसका पूरे देश भर में विरोध किया जा रहा है. 

कांग्रेस विधायक सज्जन सिंह वर्मा ने व्यापारियों को बीजेपी के तलवे चाटने वाला कहा

इंदौर में भी हम अपनी मांगों को लेकर इंदौर के गांधी प्रतिमा पर माल्यार्पण कर केंद्र सरकार की शुद्धि बुद्धि के लिए प्रार्थना की और कामना की कि जल्द से जल्द केंद्र सरकार किसानों की मूलभूत समस्याओं का निराकरण करे. अगर किसानों की मांगें नहीं मानी गई तो आने वाले दिनों यह आंदोलन और बड़ा रूप ले सकता है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें