इंदौर के इस मंदिर में तीन रूपों में दर्शन देती हैं देवी मां, अमरीका, चीन तक से आते हैं भक्त

Indrajeet kumar, Last updated: Wed, 13th Oct 2021, 7:23 PM IST
  • इंदौर के हरसोला में स्थित भवानी माता मंदिर अपने मान्यताओं के लिए प्रसिद्ध है. मान्यता है कि यहां मांगी गई मुराद जरूर पूरी होती है. यहां देश विदेश से श्रद्धालु आते हैं. अमेरिका और चाइना से भी श्रद्धालु यहां आते हैं.
प्रतीकात्मक फोटो

इंदौर. शहर से 16 किलोमीटर दूर महू रोड पर स्थित हरसोला में भवानी माता का मंदिर मान्यताओं के लिए प्रसिद्ध है. इस मंदिर में देश-विदेश से भी श्रद्धालु आते हैं. अमेरिका और चीन जैसे देश से भी लोग आ चुके हैं. मंदिर ने आने के बाद जब लोगों की मुराद पूरी हो जाती है तो हजारों लाखों किलोमीटर दूर के लोगों में भी आस्था जग जाती है. इस मंदिर में लोग गोद भराई और शादी जैसी रस्मों को भी पूरा करने के लिए आते हैं. जिन लोगों की मन्नतें पूरी हो जाती है वो लोग माता के चरणों में कुछ रख के ही जाते हैं. इस मंदिर के बारे में ये कहा जाता है की यहां माता रानी अपने तीनों रूपों की दर्शन देती हैं. पूरा इलाका इसे चमत्कार के रूप में देखता है. इस मंदिर का इतिहास 400 साल से भी पुराना बताया जाता है. यहां माता के मूर्ति की स्थापना कैसे हुई, इस बारे में किसी को जानकारी नहीं है. इस मंदिर के मुख्य पुजारी बालकृष्ण शर्मा ने बताया कि उनकी पांचवीं पीढ़ी से लोग इस मंदिर की सेवा कर रही है. पुजारी बालकृष्ण शर्मा ने बताया कि इस मंदिर की स्थापना होलकर राजाओं ने करवाया है. लेकिन इसकी स्थापना कब हुई इसके बारे में कोई जानकारी नहीं है. कहा जाता है कि यहां होलकर साम्राज्य के राजा बलि देने आते थे.

पुजारी बालकृष्ण शर्मा ने ये भी बताया कि उनके दादा रामचंद्र शर्मा यहां पूजा करवाते थे. उसके बाद फिर उनके पिताजी सदाशिव शर्मा, उसके बाद वो खुद यहां पूजा करवाते रहें. फिलहाल उनका बेटा भरत यहां पूजा करवा रहा है. बालकृष्ण ने बताया कि यहां देवी मां तीन रूपों में दिखती हैं. उन्होंने बताया कि सुबह करीब 5 बजे देवी बाल स्वरूप में दिखती हैं. दोपहर में युवा और शाम में वृद्धा रूप में दिखती हैं. साथ ही यहां हर महीने के शुक्ल पक्ष की नवमीं को कन्या भोजन कराया जाता है.

इंदौर के नए अन्नपूर्णा मंदिर का शिखर 81 फीट ऊंचा होगा, ये होगी खासियत

पंडित बालकृष्ण की माने तो पड़ोसी राज्य महाराष्ट्र और राजस्थान से काफी संख्या में लोग यहां आते हैं. इसके अलावा इंदौर के आसपास के जिले भोपाल, महेश्वर करई, निमाड़ के लोग भी यहां काफी संख्या में आते हैं. साथ ही इस इलाके के लोग भवानी माता को अपनी कुलदेवी भी मानते हैं.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें