भय्यू महाराज आत्महत्या मामला: पत्नी ने इंदौर कोर्ट में तारीख बढ़ाने की अपील की

Smart News Team, Last updated: Thu, 21st Jan 2021, 2:13 PM IST
  • भय्यू महाराज आत्महत्या मामले में उनकी दूसरी पत्नी डॉ. आयुषी बुधवार को जिला कोर्ट के सेशन बेंच में उपस्थित तो हुई, लेकिन कमर और पेट दर्द की समस्या बताकर तारीख 4 से 5 दिन आगे बढ़ाने के लिए आवेदन देकर चली गई. उल्लेखनीय है कि इस केस में डॉ. आयुषी के बयान काफी महत्वपूर्ण हैं.
जिला एवं सत्र न्यायालय इंदौर

इंदौर. भय्यू महाराज के आत्महत्या मामले में महाराज की दूसरी पत्नी डॉक्टर आयुषी ने बुधवार को भी कोर्ट में बयान नहीं दिया. डॉ. आयुषी बुधवार को प्रति परीक्षण के लिए जिला कोर्ट के सेशन बेंच में उपस्थित तो हुई, लेकिन कमर और पेट दर्द की समस्या बताकर तारीख 4 से 5 दिन आगे बढ़ाने के लिए आवेदन कोर्ट के समक्ष रखा. 

सिर्फ आवेदन देने के लिए ही उपस्थित हुई डॉक्टर आयुषी, इसके पहले चार बार कोर्ट केस की तारीखों पर कोर्ट के समक्ष पेश नहीं हुई थी. इसको लेकर उसके खिलाफ जमानती वारंट भी जारी हुआ था. तब भी डॉक्टर आयुषी कोरोना संक्रमण ग्रसित होने और बच्ची की तबियत ठीक न होने का हवाला देते हुए कोर्ट में पेश नही हुई थी. वहीं आरोपी शरद के वकील धर्मेंद्र गुर्जर ने इस आवेदन का प्रति उत्तर कोर्ट में दाखिल करते हुए कहा कि जो महिला घर से कार में बैठकर कोर्ट तक आई और सीढ़ियां चढ़कर कोर्ट में यह आवेदन देकर गई है, उसे कोई समस्या नहीं है. बस इस केस को लंबित करने का प्रयास किया जा रहा है. महाराज के मुख्य सेवादार मनोहर के भी प्रति परीक्षण चल रहे हैं, जिसमें उसने कहा है कि डॉक्टर आयुषी और महाराज के बीच अक्सर झगड़े हुआ करते थे.

इंदौर: पिता के शव के पास सोता रहा बेटा, बदबू आने पर पड़ोसियों को पता चला 

मनोहर महाराज के साथ कक्षा छठी से बारहवीं तक पढ़ा हुआ है और उसके बाद उन्हीं के साथ समाजसेवी कार्यों में जुड़ गया था. उल्लेखनीय है कि इस केस की सुनवाई शीघ्र की जानी है. महाराज की बेटी, दोनों बहन, ड्राइवर, बचपन के दोस्त और डॉक्टर के कोर्ट में बयान हो चुके हैं. इस केस में डॉ. आयुषी के बयान सबसे महत्वपूर्ण हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें