कालीचरण के अरेस्ट पर विजयवर्गीय बोले- संतों के मामले में हमें थोड़ा उदार रहना चाहिए

ABHINAV AZAD, Last updated: Tue, 4th Jan 2022, 6:32 PM IST
BJP महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कथित संत कालीचरण की गिरफ़्तारी को गलत ठहराते हुए संतों के मामले में उदारवादी होने की वकालत की.
BJP महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कथित संत कालीचरण की गिरफ़्तारी पर असहमति जताई है.

इंदौर. (वार्ता) BJP महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कथित संत कालीचरण की गिरफ़्तारी को गलत ठहराया है. साथ ही उन्होंने कहा कि संतों के मामले में हमें थोड़ा रूख उदार अपनाना चाहिए.

श्री विजयवर्गीय अपने गृह नगर इंदौर में आज से शुरू होने वाली 71वीं जूनियर राष्ट्रीय बास्केटबाल प्रतिस्पर्धा के आयोजन की जानकारी देने के लिए प्रेसवार्ता कर रहे थे. उन्होंने प्रेस वार्ता के बाद कालीचरण की गिरफ़्तारी से जुड़े संवाददाताओं के प्रश्नो के उत्तर में कहा कि वे समझते हैं कि संतो के बारे में टीका-टिप्पणी करना उचित नहीं है. उन्होंने कहा कि कालीचरण महाराज के मामले में उन्हें (कालीचरण) को समझाइश भी दी जा सकती थी.

MP Corona Virus: उज्जैन में कोरोना वायरस संक्रमित 9 नए मरीजों की पुष्टि

वरिष्ठ भाजपा नेता ने कहा कि ये भी सही है कि इस तरह की भाषा का उपयोग भी नहीं होना चाहिए. उन्होंने अपरोक्ष रूप से छत्तीसगढ़ सरकार पर आरोप लगाया कि इस तरह कानून का उपयोग भी राजनीतिक लाभ के लिए नहीं किया जाना चाहिए.

विगत 30 दिसंबर को कालीचरण को मध्यप्रदेश के खजुराहो से छत्तीसगढ़ की रायपुर पुलिस ने गिरफ्तार क्या था. कालीचरण तब से ही न्यायिक हिरासत में कैद है. कालीचरण पर राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के खिलाफ अपशब्द कहने के आरोप हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें