इंदौर के सर्राफा बाजार में लगेंगे 65 कैमरे, सुरक्षा पर रखा जाएगा विशेष ध्यान

Smart News Team, Last updated: 23/02/2021 04:30 PM IST
  • इंदौर के सर्राफा बजार में 65 कैमरे लगाए जाएंगे. इसमें से करीब 32 कैमरे व्यापारियों ने जनभभागीदारी से लगवाए हैं और वहीं 12 कैमरे छह रास्तों पर लगाए जाएंगे. इसके अलावा बाजार के अंदर गलियों में हर आने-जाने वालों के लिए भी 20 कैमरे लगाए जाएंगे.
इंदौर के सर्राफा बाजार में लगेंगे 65 कैमरे, सुरक्षा पर रखा जाएगा विशेष ध्यान  (प्रतीकात्मक तस्वीर)

इंदौर के सराफा बजार की सुरक्षा बढ़ाई जा रही है, इसके लिए अब बाजार में करीब 65 कैमरे भी लगाए जाएंगे. इसमें से करीब 32 कैमरे व्यापारियों ने जनभभागीदारी से लगवाए हैं और वहीं 12 कैमरे छह रास्तों पर लगाए जाएंगे. इसके अलावा बाजार के अंदर गलियों में हर आने-जाने वालों के लिए भी 20 कैमरे लगवाए जाएंगे. वहीं, दो कैमरे सराफा बाजार में हर दुकान के आगे-पीछे सीधे वहां के थाने से भी कनेक्ट होंगे, जिससे पुलिस बाजार में होने वाली सभी गतिविधियों पर नजर रख सके.

बताया जा रहा है कि रात में सर्राफा बाजार बंद होते ही थाने का गश्ती दल छोटा व बड़ा सराफा की हर उस बैकलेन के चैनल गेट पर ताला लगाकर कवर करेगा जहां से चोरों के दाखिल होने और भागने की संभावना रहती है. यह पूरा प्लान पुलिस अधिकारियों ने सराफा व्यापारियों के साथ मिलकर ही तैयार किया है. कैमरों के साथ ही सराफा बाजर में पुलिस का जिंगल भी सुनाई देगा. इसमें ‘आप सराफा में हैं, आप सुरक्षित हैं... आपका सराफा में स्वागत है’ बाजार में गूंजता हुआ सुनाई देगा. आईजी हरिनारायणाचारी मिश्र ने बताया कि हमारे एएसपी और सीएसपी रैंक के अफसरों ने कारोबारियों के साथ चर्चा कर इसका प्लान तैयार किया है.

इंदौर सहित 12 जिलों में मास्क अनिवार्य, वरना होगी कार्रवाई

बता दें कि इंदौर में स्मार्ट सिटी योजना के कामों के कारण यहां के सीसीटीवी कैमरों के कनेक्शन कट गए थे. ऐसे में सर्राफा की सुरक्षा व्यवस्था भी पूरी तरह ध्वस्त हो चुकी थी. बाजार की सुरक्षा व्यवस्था को बढ़ाने के लिए 10 साल पहले तत्कालीन सर्राफा टीआई रहे एसकेएस तोमर ने वारदातों को रोकने के लिए अफसरों को यह प्लान दिया था. बताया जा रहा है कि वर्तमान में वे क्षेत्र के सीएसपी हैं और अब उन्हीं के प्लान को सराफा बाजार में लागू किया जा रहा है.

450 एकड़ में बनेगा इंटरनेशनल मेगा फर्नीचर क्लस्टर, हजारों को मिलेगा रोजगार

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें