इंदौर में कोरोना के बढ़ते मामले को लेकर कलक्टर की फटकार से सीएमएचओ पड़े बीमार

Smart News Team, Last updated: 09/12/2020 11:30 AM IST
  • इंदौर में कोरोना को लेकर हो रही बैठक में कलक्टर मनीष सिंह ने अधीनस्थों के सामने ही सीएमएचओ डॉ. प्रवीण जाड़िया को इतनी फटकार लगा दी कि घबराहट से उनकी तबीयत बिगड़ गई. थोड़ी देर के लिए तो वे ढंग से खड़े भी नहीं हो रह पा रहे थे.
कलक्टर की फटकार से बीमार हुए सीएमएचओ

इंदौर. देशभर में दीपावली एवं दशहरे के उत्सव के बाद कोरोना के मामलों में लगातार बढ़ोतरी देखी जा रही है. ऐसे में मध्य प्रदेश की आर्थिक राजधानी कही जाने वाली इंदौर में भी कोरोना के आंकड़े बढ़ रहे हैं. विभिन्न तरह की सख्ती, अनुशासनिक और दंडात्मक कार्रवाई के बावजूद इंदौर में कोरोना मरीजों की संख्या आए दिन बढ़ती ही जा रही है. 

चाहे रात्रिकालीन कर्फ्यू लगा दिया जाए या फिर मास्क नहीं लगाने पर चालान काटने की कार्रवाई की जाए या फिर कोरोना से बचाव का पालन न करने वालों को अल्पकालीन जेल में भेज दिया जाए, पर कोरोना मरीज के आंकड़ें थम नहीं रहे हैं.

इंदौर में कोरोना की रोकथाम पर जब जिले के कलेक्टर मनीष सिंह द्वारा समीक्षा करने के लिए बैठक ली गई तो कलक्टर की लताड़ से सीएमएचओ की तबीयत खराब हो गई. असल में इंदौर में कोरोना के बढ़ते हुए मरीजों पर जब चर्चा हुई तो कलक्टर ने सीएमएचओ को भरी मीटिंग में मिसमैनेजमेंट के लिए फटकार लगाई. 

बिहार के कॉलेज में ग्रेजुएशन कर रहा इमरान हाशमी और सनी लियोनी का बेटा!

अगर इसे अन्य शब्दों में कहें तो इंदौर में बढ़ते कोरोना मामले पर कलक्टर ने सीएमएचओ पर गुस्सा निकाला. चूंकि अधीनस्थों के सामने ही कलक्टर मनीष सिंह ने सीएमएचओ डॉ. प्रवीण जाड़िया को इतनी फटकार लगा दी कि घबराहट से उनकी तबियत बिगड़ गई. थोड़ी देर के लिए तो वे ढंग से खड़े भी नहीं रह पा रहे थे और लड़खड़ा रहे थे.

इंदौर में सिरफिरे ने रात 3 बजे कार में आग लगाई, पीछे खड़ी ऑटो भी जली

गौरतलब है कि कलक्टर मनीष सिंह अपनी सख्ती के लिए जाने जाते हैं। उनका पूरा मकसद किसी भी तरह खराब हुई सिचुएशन को कंट्रोल करना होता है. ऐसे में जब किसी विभाग में लापरवाही दिखती है तो वे अधिकारियों पर बरस पड़ते हैं. 

बीवी को मायके से बुलाने को पति ने खिंचाई लड़की संग फोटो, अब दहेज केस से भाग रहा

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें