Indore CM helpline पर 11 हजार शिकायतें लंबित, 3 तहसीलदारों को कारण बताओ नोटिस

Uttam Kumar, Last updated: Tue, 12th Oct 2021, 11:42 AM IST
इंदौर सीएम हेल्पलाइन पर दर्ज किए गए अलग-अलग विभागों के करीब 11 हजार शिकायतें लंबित हैं. इनमें सबसे ज्यादा 3500 शिकायतें नगर निगम से जुड़ी हैं. इसके अलावा पिछड़ा वर्ग कल्याण, पुलिस, बैंक और राजस्व विभाग से संबंधित भी काफी शिकायतें हैं. कलेक्टर मनीषसिंह ने राऊ तहसीलदार महेंद्र गौड़, हातोद तहसीलदार ममता पटेल और नायब तहसीलदार हंसा को राजस्व विभाग से जुड़ी शिकायतों के नहीं निराकरण करने पर  कारण बताओ नोटिस जारी किया है.
Indore CM helpline पर 11 हजार शिकायतें लंबित. प्रतिकात्मक फोटो 

इंदौर.लोगों के परेशानी दूर करने के लिए शुरू किए गए सीएम हेल्पलाइन पर सिर्फ इंदौर जिले में अलग-अलग विभागों के करीब 11 हजार शिकायतें लंबित हैं. इनमें सबसे ज्यादा 3500 शिकायतें नगर निगम से जुड़ी हैं. इसके अलावा पिछड़ा वर्ग कल्याण, पुलिस, बैंक और राजस्व विभाग से संबंधित भी काफी शिकायतें हैं. लोगों ने परेशानी दूर हो जाने के विश्वास में शिकायत दर्ज करवा दिया. लेकिन अधिकारियों ने उनकी शिकायतों की और ध्यान नहीं दिया. जिसके कारण इन सभी शिकायतों का निराकरण नहीं हो सका. इनमें से एक हजार शिकायतें सौ दिनों  से अधिक पुरानी  हो चुकी है. 

सीएम हेल्पलाइन पर राजस्व विभाग से संबंधित शिकायतों पर उचित कार्रवाई नहीं होने पर  कलेक्टर मनीषसिंह ने राऊ तहसीलदार महेंद्र गौड़, हातोद तहसीलदार ममता पटेल और नायब तहसीलदार हंसा को कारण बताओ नोटिस जारी किया है. सीएम हेल्पलाइन पर राजस्व विभाग से संबंधित 50 से अधिक शिकायते लंबित है. सोमवार को समय-सीमा और राजस्व अधिकारियों की बैठक में जानकारी सामने आया कि राऊ तहसीलदार ने बीते एक महीने से सीएम हेल्पलाइन  पर लोगों द्वारा दर्ज करवाई जा रही शिकायतों को देखा तक नहीं है. 

लव जिहाद: परवेज ने मिहिर बन महिला को फंसाया, मुस्लिम न बनने पर प्राइवेट फोटो वायरल करने की दी धमकी

वहीं हातोद तहसील में नायब तहसीलदार द्वारा सीएम हेल्पलाइन पर शिकायतकर्ता का सही जवाब जवाब न देने के कारण लोगों की समस्या का निराकरण नहीं हो पाया. जिसके बाद कार्रवाई करते हुए कलेक्टर मनीषसिंह ने राऊ तहसीलदार महेंद्र गौड़, हातोद तहसीलदार ममता पटेल और नायब तहसीलदार हंसा को कारण बताओ नोटिस जारी कर जबाव मांगा है. बैठक में कलेक्टर मनीषसिंह ने कहा कि सभी राजस्व  विभाग के अधिकारी अपने-अपने कामों को जिम्मेदारीपूर्वक करें.  सीएम हेल्प लाइन के तहत दर्ज प्रकरणों के निराकरण पर विशेष ध्यान दिया जाए. 

कलेक्टर मनीषसिंह ने अधिकारियों से कहा कि सीएम हेल्पलाइन द्वारा दर्ज शिकायतों को  तत्काल निराकरण किया जाए. काम में लापरवाही पाए जाने पर दोषी अधिकारियों के साथ ही निगरानी करने वाले अधिकारी भी दोषी माने जाएंगे. साथ ही सभी संबंधित अधिकारियों के खिलाफ उचित कार्रवाई की जाएगी. समय-सीमा और राजस्व अधिकारियों की बैठक में अपर कलेक्टर अजयदेव शर्मा, राजेश राठौर सहित सभी एसडीएम, तहसीलदार, नायब तहसीलदार आदि मौजूद थे. 

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें