इंदौर: 20 लाख के 400 नकली रेमेडिसविर इंजेक्शन के साथ फार्मा कंपनी मालिक गिरफ्तार

Smart News Team, Last updated: Fri, 16th Apr 2021, 2:43 PM IST
इंदौर में क्राइम ब्रांच की टीम में गुरुवार को 400 नकली रेमेडिसविर इंजेक्शन के साथ फार्मा कंपनी के मालिक को गिरफ्तार किया है. पकड़े गए इंजेक्शन शीशीयों की कीमत 20 लाख रुपए है. आरोपी इन्हें और अधिक दामों में बेचना चाहता था.
400 नकली रेमेडिसविर के साथ आरोपी फार्मा कंपनी का मालिक

इंदौर. गुरुवार को एक फार्मास्युटिकल कंपनी के मालिक को नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन बेचने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है. उसके कब्जे से 400 इंजेक्शन भी जब्त किए गए हैं. जानकारी के अनुसार आरोपी का नाम विनय त्रिवेदी है और पीथमपुर में वह फार्मा कंपनी संचालित कर रहा है. इसके अलावा हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा में भी आरोपी का एक प्लांट है. और वह नकली वायल की खेप को हिमाचल से भी लेकर आया था.

इंदौर सिटी DIG मनीष कपूरिया ने बताया कि क्राइम ब्रांच को मुखबिर से सूचना मिली थी कि पीथमपुर की एपोच फार्मास्यूटिकल्स कंपनी का मालिक अपनी काले रंग की टाटा सफारी कार से नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन लेकर उन्हें बेकने के लिए निकला है. इसके बाद क्राइम ब्रांच ने न्यू रानीबाग इलाके में पहुंचकर ट्रैप लगाया और गाड़ी आने पर घेरा बंदी कर आरोपी को पकड़ लिया.

कोरोना का नया स्ट्रेन बच्चों को भी बना रहा शिकार, नहीं निकलने दें घर से बाहर

शुरुआती पूछताछ में आरोपी ने अपना नाम विनय त्रिवेदी बताया. जब पुलिस ने गाड़ी की तलाशी ली तो पुलिस को एक बड़ा कार्टून बरामद हुआ. जिसमें 16 बॉक्स में रेमडेसिविर इंजेक्शन के कुल 400 नग इंजेक्शन की शीशीयां मिली. इसके बाद जब पुलिस ने आरोपी से वैध लाइसेंस के बारे में पूछा तो वह इंजेक्शन की खरीदारी का बिल नहीं दिखा पाया. इसके बाद पुलिस उसे थाने ले आई और उससे वापस पूछताछ शुरू की. पूछताछ में आरोपी ने हिमाचल प्रदेश की किसी फैक्टी से नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन ट्रांसपोर्ट के जरिए मंगाने की बात कहीं. उसने बताया कि जब्त किए गए इंजेक्शन की कीमत 20 लाख रुपये है वो इन्हें ऊंचे दामों में बेचकर और ज्यादा पैसे कमाना चाहता था.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें