इंदौर : नए साल पर मंदिरों में उमड़ी भीड़, कोरोना गाइडलाइन की उड़ी धज्जियां

Smart News Team, Last updated: Fri, 1st Jan 2021, 3:37 PM IST
  • मंदिर आने वाले ज्यादातर लोग बिना मास्क के देखे गए और सोशल डिस्टेंसिंग का भी पालन नहीं किया जा रहा था. इसको लेकर न तो स्थानीय प्रशासन द्वारा और न ही मंदिर प्रशासन द्वारा कोई कदम उठाए गए.
खजराना मंदिर में उमड़ी लोगों की भीड़

इंदौर. नए साल के पहले दिन भगवान के दर्शन के लिए मंदिरों में लोगों की भीड़ लगी रही. इस दौरान शायद लोग ये भूल गए कि अभी कोरोनाकाल चल रहा है और सावधानी बरतना निहायत ही जरूरी है. मंदिर आने वाले ज्यादातर लोग बिना मास्क के देखे गए और सोशल डिस्टेंसिंग का भी पालन नहीं किया जा रहा था. 

जब से कोरोना भारत में आया है, मध्यप्रदेश का इंदौर लगातार सुर्खियों में रहा है. इंदौर में कोरोना मरीजों की संख्या मीडिया में सुर्खियों का विषय रही है. एक समय था, जब इंदौर पूरे भारत में कोरोना मरीजों की संख्या के लिहाज से दूसरे नंबर पर था. हालांकि अभी स्थिति नियंत्रण में है, फिर भी लोग हैं कि मानने को तैयार नहीं. खुलेआम जनता द्वारा सार्वजनिक स्थानों पर अनगिनत संख्या में एकत्रित होकर मास्क नहीं पहनने और सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान न रखने की गलती बार-बार दोहराई जा रही है. नए साल की पहली सुबह भी यही सब इंदौर के मंदिरों में देखने को मिला. लोग बड़ी तादाद में मंदिरों में एकत्रित होकर भगवान का आशीर्वाद लेने आए थे. प्रशासन की तरफ इसको लेकर कोई तैयारी नहीं देखी गई. 

शमशान में अंतिम क्रिया का इंतजार कर रहे शव को पुलिस ने भेजा पोस्टमार्टम के लिए

इंदौर के प्रसिद्ध खजराना मंदिर में सुबह के वक्त हजारों की संख्या में भीड़ देखी गई. भीड़ में कइयों के चेहरे पर मास्क तक नहीं लगा था और साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग की तो धज्जियां ही उड़ा दी गई थी. इस विषय में न तो स्थानीय प्रशासन द्वारा और न ही मंदिर प्रशासन द्वारा कोई कदम उठाए गए. शहर की आम जनता को भगवान भरोसे छोड़ दिया गया.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें